अलीगढ़ (जेएनएन)।  सासनीगेट क्षेत्र के काजीपाड़ा में पांच दिन पहले कहकशां की हत्या उसके ही देवर ने ब्लैकमेलिंग से तंग आकर की थी। पुलिस ने रविवार को घटना का राजफाश करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। एसपी क्राइम डॉ. अरविंद कुमार ने बताया कि तीन सितंबर को हिस्ट्रीशीटर अनीस उर्फ उडऩछूं के मकान में एक महिला का शव मिला था। शव की शिनाख्त उसके भाई सलीम निवासी भुजपुरा, कोतवाली ने कहकसा पत्नी स्व. भूरा निवासी भुजपुरा के रूप में की थी।

भाई ने दर्ज कराया था हत्या का मामला

सलीम ने कहकसा के रिश्ते के देवर काले उर्फ उम्रदराज निवासी काजीपाड़ा के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया था। सासनी गेट थाने के इंस्पेक्टर  जावेद खां ने रविवार को काले उर्फ उम्रदराज को भुजपुरा चौराहे से गिरफ्तार कर लिया। इसने पूछताछ में बताया कि कहकसा से उसके काफी समय से अवैध संबंध थे। इन्हीं संबंधों के चलते उसने घर से कुछ ही दूरी पर आठ सौ रुपये प्रति माह किराए पर कमरा ले रखा था। जहां वह कहकसा को बुलाया करता था। बदले में वह उसकी जरूरतों को पूरा कर दिया करता था।

बढ़ गई थीं मांगें

काफी समय से कहकसा की रुपयों के अलावा अन्य चीजों की मांगें कुछ अधिक बढ़ गई थीं। पत्नी हिना व परिवार के लोगों को इस अवैध रिश्ते की जानकारी हो गई थी और वह विरोध करते थे। इससे वह तंग आकर उसने बहाने से कहकसा को कमरे पर बुलाया और फिर गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने काले उर्फ उम्रदराज को रिमांड मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस