अलीगढ़ (अलीगढ़)।   राजनीतिक दलों के बीच सोशल मीडिया पर वॉर छिड़ा हुआ है। गुरुवार को कांग्रेस प्रत्याशी चौ. बिजेंद्र सिंह के सपा में शामिल होने वाले फोटो वायरल हुए हैं। इन्हें किसी भाजपा कार्यकर्ता द्वारा वायरल किया गया है। गत बुधवार को लोकेश चौधरी नाम से गठबंधन प्रत्याशी अजीत बालियान के भाजपा नेता व सांसद सतीश गौतम के साथ फोटो वायरल किए थे। मकसद आमजन में बालियान की भाजपा से नजदीकी दर्शाना था।

1998 का फोटो

चौ. बिजेंद्र के जारी किए गए फोटो वर्ष 1998 के होने का दावा किया गया है। तीन फोटो वायरल हुए हैं, इनमें मंचासीन अतिथियों में सपा के तत्कालीन राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव, व विधायक अब्दुल खालिक भी हैं। सिंह ने कहा कि वह पार्टी से किन्हीं कारणों से नाराज हुए थे, व सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव की समाजवादी नीतियों से प्रभावित थे। मुलायम किसी जमाने में चौ. चरण सिंह की नीतियों को आत्मसात किया था। छह दिन के बाद पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने दवाब बनाकर वापस ले लिया था।

पहले भाजपाइयों संग बसपा प्रत्याशी की तस्वीरें हुई थीं वायरल
 बुधवार को बसपा प्रत्याशी चौ. अजीत बालियान की हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा, अलीगढ़ के ही सांसद सतीश गौतम के संग ली गईं तस्वीरें वायरल होने से सियासी गरमाहट बढ़ गई।कांग्रेस ने भी अपने वार रूम से इन तस्वीरों को जारी किया। चौ. अजित बालियान ने भाजपा और कांग्र्रेस में साठगांठ का आरोप लगाते हुए तस्वीरों को गलत तरीके से प्रचारित करने का आरोप लगाया।
बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुई इन तस्वीरों के माध्यम से लोगों ने बसपा-सपा-रालोद के संयुक्त प्रत्याशी चौ. अजित बालियान और भाजपा पर चुटकी लेनी शुरू कर दी। कांग्रेस के वॉर रूम से जारी पोस्ट में कहा गया कि दोनों के अटूट रिश्ते हैं, जो सामने आ गए हैं। दो तस्वीरों में चौ. अजित बालियान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के ठीक पीछे खड़े हुए हैं। खट्टर की कैबिनेट व अन्य भाजपा नेता भी मौजूद हैं। दूसरी तस्वीर होलिका दहन पर आयोजित हास्य कवि सम्मेलन की है। इसमें वे डॉ. महेश शर्मा के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं। डॉ. महेश शर्मा के हाथ में बुके भी हैं। दायीं ओर संचालक माइक थामे हुए है। तीसरी ग्रुप (छह लोग) में ली गई तस्वीर है। बायीं ओर बालियान व दायीं ओर सांसद सतीश गौतम हैं नजर आ रहे हैं।

बसपा प्रत्याशी ने कहा, भाजपा व कांग्र्रेस में साठगांठ 
चौ. अजित बालियान ने कहा कि यह गठबंधन से घबरायी हुई भाजपा की साजिश है मुझे बदनाम करने की। भाजपा के जरिये ही कांग्रेस व अन्य प्लेटफार्म तक ये तस्वीर पहुंची हैं। करीब दो साल पहले जाट आरक्षण समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक के साथ प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री खट्टर से वार्ता की थी, मैं भी प्रतिनिधि मंडल का हिस्सा रहा। तस्वीर में मालिक भी मेरे साथ है। दूसरी तस्वीर दो- तीन साल पुरानी है, जो होली मिलन समारोह की है, जिसमें केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा भी आए। तीसरी तस्वीर एक शादी समारोह की है। शादी-समारोह में एक-दूसरे से मिलना सामान्य शिष्टाचार  है।
 

Posted By: Mukesh Chaturvedi