अलीगढ़ (जेएनएन)। लापरवाह आयकरदाताओं के खिलाफ विभाग ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। जिन आयकरदाताओं ने लंबित मामलों को नहीं निपटाया है या आयकर नोटिस नजरअंदाज किए हैं, उनके बैंक खाते फ्रीज कर दिए गए हैं। अलीगढ़ प्रखर के सात जिलों में 200 आयकरदाताओं पर यह कार्रवाई की गई है। 

आयकर विभाग के अलीगढ़ प्रखर में एटा, कासगंज, हाथरस, मैनपुरी, कन्नौज, फर्रुखाबाद व अलीगढ़ जिले हैं। अलीगढ़ के प्रत्येक वार्ड में आयकर मामले लंबित हैं।

वित्त वर्ष 2016-17 के लंबित उद्यमियों व अन्य आयकरदाताओं को 31 मार्च तक रिटर्न दाखिल करना है। विभाग पर टारगेट पूरा करने का भी दबाव है। इसके लिए वार्ड स्तर पर ऐसे आयकरदाताओं की सूची तैयार की गई, जिन्होंने नोटिस का जवाब नहीं दिया। उनके खाते फ्रीज कर दिए गए हैैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार 400 से अधिक आयकरदाता चिह्नित किए गए हैं। सीए अवन कुमार सिंह का कहना है कि कार्रवाई ऐसे आयकरदाताओं पर होती है, जिन पर एक करोड़ से अधिक का टैक्स बनता है। विभाग नोटिस के साथ टैक्स की किस्त भी बनाता है। प्रधान आयकर आयुक्त आनंद शरण सिंह ने बताया कि आयकरदाताओं पर दबाव बनाने के लिए बैंक खाते फ्रीज किए गए हैं। इस कार्रवाई के बाद कुछ आयकरदाताओं ने पैसा भी जमा कराया है। 

 

By Nawal Mishra