हाथरस, जागरण संवाददाता । मां दुर्गा और हिंदू देवी-देवताओं पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले बसपा नेता और तहसील के अधिवक्ता राजपाल पुनिया की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शुक्रवार को कई संगठनों के लोगों ने प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय सवर्ण परिषद के बैनर तले महिलाओं ने अधिवक्ता के चैंबर में लगे उनके पोस्टर पर स्याही पोत दी और जला दिया। सादाबाद व सिकंदराराऊ थाने में मामला दर्ज करने के लिए तहरीर दी गई है। वहीं, रेवेंयू वार एसोसिएशन की बैठक में पुनिया की सदस्यता समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। 

बसपा के जिला पंचायत उपाध्‍यक्ष रहे हैं राजपाल : राजपाल पुनिया बसपा से जिला पंचायत उपाध्यक्ष रहे हैं। उन्होंने दो दिन पहले फेसबुक पर हिंदू देवी-देवताओं पर अमर्यादित टिप्पणी करते हुए पोस्ट की थी। इसके बाद से विरोध शुरू हो गया। तब पोस्ट हटा दी गई।

गुरुवार को हाथरस जंक्शन निवासी अधिवक्ता मनोज कुमार शर्मा कोतवाली सदर में राजपाल पुनिया के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरेाप में मुकदमा दर्ज करा दिया था। शुक्रवार को गिरफ्तारी की मांग को लेकर राष्ट्रीय सवर्ण परिषद की महिला विंग की नगर अध्यक्ष रेखा वर्मा, जिलाध्यक्ष पूजा शर्मा, परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज धवरैया, नगर अध्यक्ष संदीप शर्मा, जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र वर्मा कार्यकर्ताओं के साथ राजपाल पुनिया के तहसील में बने चैंबर पर पहुंच गए।

यहां नारे लगाए गए। इन्होंने चैंबर का ताला तोड़ दिया। इसके भीतर लगे राजपाल पुनिया के फोटो लगे पोस्टर को बाहर निकाल लाए। उस पर काली स्याही लगा दी। फिर आग लगा दी। तहसील की रेवेन्यू बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने भी टिप्पणी का विरोध किया है।

कई अधिवक्ताओं ने पूनिया के खिलाफ नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। रेवेंन्यू वार एसोसिएशन के अध्यक्ष गिरीश चंद गौड़ की ओर से जारी प्रेसनोट में बताया गया कि संघ के पदाधिकारियों की बैठक में राजपाल पुनिया की सदस्यता समाप्त कर दी गई है।वहीं विप्र सेवा समाज वेल्फेयर ट्रस्ट के पश्चिम उत्तर प्रदेश प्रभारी अरुण शर्मा ने सादाबाद थाने में तहरीर देकर कहा है कि पुनिया के बयान से धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है।

सिदंकराराऊ में अमन गुप्ता, राज कुमार, अंकुर चौहान, सुनील चौहान ने तहरीर दी है। कोतवाली सदर के प्रभारी निरीक्षक लोकेश भाटी ने बताया कि राजपाल की तलाश की जा रही है। इसके लिए कई जगह दबिश दी गई है।

Edited By: Anil Kushwaha