अलीगढ़, जागरण संवाददाता। सर्दी का मौसम आ गया है। आसमान पर बादल छाए रहने व सर्द हवा से शुक्रवार को भी ठंड में इजाफा हो गया। सुबह कुछ देर के लिए ही सूरज के दर्शन हुए। इसके बाद दिनभर बादलों में छुपा रहा। ठंड बढ़ने से जनजीवन प्रभावित होने लगा है। रात के समय राहगीरों को ठंड खूब सता रही है। तापमान में निरंतर गिरावट हो रही है। अधिकतम तापमान 24 डिग्री व न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड तक दर्ज हुआ।

रात में बढ़ जाती है ठिठुरन

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार इस सप्ताह आसमान पर बादल छाए रहेंगे। बूंदाबांदी व बारिश की संभावना है। जिससे न्यूनतम तापमान में पांच से सात डिग्री तक की गिरावट दर्ज हो सकती है। वहीं, दिसंबर के दूसरे सप्ताह में भंयकर ठंड बढ़ने की आशंका है। इसमें दिन के समय तो धूप निकलेगी, लेकिन रात में सर्द हवा चलने से ठिठुरन बढ़ जाएगी। अधिकतम तापमान 22-22 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंचेगा। सर्दी लोगों की हालत खस्ता कर सकती है। विगत दो दिनों से इसका अहसास भी हो रहा है। रात के समय सार्वजनिक स्थलों पर लोग अलाव जलाकर ठंड से बचाव करते नजर आए। चाय की दुकानों पर भी देररात तक रौनक नजर आने लगी है।

रैनबसेरे खुलने का इंतजार

ठंड बढ़ने के साथ राहगीरों की परेशानी बढ़ गई। ठंड अचानक बढ़ गई है, लेकिन अभी तक अस्थाई रैनबसेरे नहीं बने हैं, इससे उनकी रातें खुले आसमान के नीचे बीत रही हैं।

सेहत का रखे ध्यान

जिला अस्पताल स्थित आयुष विंग के प्रभारी डा. नरेंद्र चौधरी ने बताया कि यह मौसम बच्चों के साथ बड़ों की सेहत भी बिगाड़ सकता है। इसलिए सभी को ठंड से बचाव की जरूरत है। सुबह व रात्रि के समय घर से बाहर निकलें तो पर्याप्त गरम कपड़े पहनकर ही। बुजुर्ग व बीमार गर्म पानी का सेवन शुरू कर सकते हैं। सांस व हृदय रोगियों को ज्यादा सुबह मार्निंग वाक पर नहीं जाना चाहिए। ठंड ज्यादा महसूस हो तो घर पर ही टहलें या व्यायाम करें।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena