अलीगढ़ (जेएनएन)। एसएसपी अजय साहनी ने स्वीकार किया है कि  तहसील अतरौली के पालीमुकीमपुर क्षेत्र के हरदोई-फरीदपुर के पास 12 अक्टूबर को घर से भाग रहे प्रेमी युगल को ऑनर किलिंग में कार से टक्कर मारकर मारा गया था। घटना से पर्दा हटाते हुए युवती के पिता व चाचा को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को जेल भेजे जाएंगे। इस प्रकरण में संदिग्ध भूमिका मिलने पर हल्का दारोगा व तीन सिपाहियों पर निलंबन की गाज गिर सकती है। एसएसपी ने जांच सीओ अतरौली को सौंपी है।

ये था मामला

कस्बा अतरौली के ब्रह्मनपुरी निवासी प्रियनाथ स्वर्णकार हैं। उनके छह बच्चों में सबसे छोटा बेटा हिमांशु वर्मा (23) का पड़ोस में ही रहने वाले मुकेश वर्मा की बेटी रूपाली (21) से दो सालों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसकी भनक दोनों परिवारों को हुई तो उन पर बंदिश लगाने की कोशिश की गई, लेकिन सब बेकार रहा। मजबूर होकर करीब छह माह पूर्व मुकेश वर्मा बेटी व परिवार को लेकर पैतृक गांव जिरौली, दादों चले गए। 12 अक्टूबर की शाम फोन पर रूपाली के बुलाने पर हिमांशु बाइक से उसके गांव पहुंच गया। फिर दोनों घर से निकल भागे। किसी तरह रूपाली के परिजनों को जानकारी हुई तो उसके पिता बोलेरो लेकर उनका पीछा करने लगे। भागते में रात करीब आठ बजे सड़क हादसे में हिमांशु की मौके पर मौत हो गई। गंभीर घायल रूपाली ने मेडिकल में देररात दम तोड़ दिया था। हिमांशु के पिता प्रियनाथ वर्मा ने रूपाली के पिता व अन्य परिजनों पर किसी वाहन से पहले टक्कर मारने व बाद में उसे लाठी-डंडों व सरिया से पीटकर मौत के घाट उतारने का आरोप लगाया था। हालांकि पुलिस ने तहरीर पर मुकदमा दर्ज नहीं किया था। रविवार को हिमांशु के पिता प्रियनाथ वर्मा की तहरीर पर रूपाली के पिता मुकेश वर्मा व चाचा योगेश वर्मा उर्फ भोला वर्मा, भाई आशु वर्मा व चार अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

समाज में हो रही थी छवि धूमिल

एसएसपी अजय कुमार साहनी, एसपी क्राइम आशुतोष द्विवेदी, एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव रविवार सुबह पालीमुकीमपुर थाने पहुंचे। आरोपित को थाने बुलवाकर पूछताछ की तो आरोपितों ने जुर्म इकबाल कर लिया। बताया कि प्रेमी युगल उनकी बात मानने को तैयार नहीं थे। समाज में उनकी छवि धूमिल हो रही थी। घर से भागने के दौरान बोलेरो कार से टक्कर मार दी थी।

सीओ को सौंपी जांच

एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि मामले की गहनता से कराई गई जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आई है। उसी आधार पर रूपाली के पिता व चाचा को गिरफ्तार किया है। जांच सीओ अतरौली को सौंपी है।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप