अलीगढ़, जागरण संवाददाता । गांधीपार्क क्षेत्र के अली नगर के पास 18 सितंबर को हुई राजमिस्त्री ठेकेदार नीरज की हत्या के मामले में पुलिस ने प्रेमिका को गिरफ्तार कर घटना का राजफाश कर दिया है। पुलिस अब हत्या में शामिल रहे आरोपित की बेटी व दामाद को तलाशने में जुटी हुई है।

पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्‍या की बात सामने आई

गांधीपार्क के डोरी नगर निवासी 52 वर्षीय नीरज सिंह 18 सितंबर की देर शाम घर पहुंचे थे। मोबाइल फोन पर एक काल आने के बाद जल्द घर वापस आने की कहकर बाइक लेकर निकले थे। देर रात तक वापस न आने पर स्वजन तलाश में जुटे रहे। सुबह राजमिस्त्री ठेकेदार का शव सड़क किनारे संदिग्ध हालात में पड़ा हुआ मिला। पास ही बाइक भी लावारिस पड़ी मिली। पुलिस इस घटना को हादसा मानकर चल रही थी। स्वजन हत्या की आशंका जता रहे थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत का कारण गला दबाकर हत्या किया जाना पाया गया। राजमिस्त्री की पत्नी की तहरीर पर इलाके के ही कुंवर नगर कालोनी निवासी प्रेमिका, बेटी पूजा व दामाद राजू के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी थी।

आरोपित महिला ने कबूली प्रेम संबंधों की बात

सीओ बन्नादेवी मोहसिन खान ने बताया कि आरोपित महिला ने पूछताछ में बताया कि राजमिस्त्री ठेकेदार नीरज से उसके प्रेम संबंध थे। इसकी जानकारी स्वजन को हो गई थी। बेटी व दामाद घर में ही रहते हैं। आए दिन इसको लेकर विवाद होता था। नीरज से उसने इसकाे लेकर घर न आने को मना किया था, लेकिन वह मानता नहीं था और आए दिन घर आ जाता था। स्वजन के तानों से तंग आकर उसने नीरज की हत्या करने की योजना बनायी। घटना वाली रात नीरज को मिलने के बहाने घर बुलाया। तभी दामाद राजू आ गया और बेटी पूजा के साथ मिलकर तीनों ने नीरज की गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या का किसी को पता न चले इसके लिए शव को घर से ले जाकर अली नगर के पास सड़क पर फेंक दिया था, ताकि इसे सड़क हादसा माना जाए। सीओ ने बताया कि फरार दामाद व बेटी को तलाशा जा रहा है। इसके लिए दो टीमें गठित की गई हैं, जल्द पकड़ा जाएगा।

Edited By: Anil Kushwaha