अलीगढ़, जागरण संवाददाता। टप्पल थाना क्षेत्र के गांव रायपुर घरबरा स्थित खेत में पानी लगाने गए किसान की गोली मारकर हत्या के मामले में पुलिस आरोपित का सुुुराग तलाशने में लगी है। पुलिस के मुताबिक, किसान गांव के संभ्रांत लोगों में शामिल थे। पुलिस की अब तक की जांच में न तो कोई रंजिश की बात सामने आई है। न ही कोई संदिग्ध बात मिली है। पुलिस ने अज्ञात में हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। फिलहाल गांव के लोगों से पूछताछ की जा रही है।

यह है मामल

टप्पल क्षेत्र के ग्राम सारोल निवासी 57 वर्षीय लोकेंद्र ऊर्फ लोका किसान थे। स्वजन के मुताबिक, रविवार शाम करीब चार बजे लोकेंद्र रायपुर घरबरा स्थित अपने खेत में पानी लगाने की कहकर निकले थे। लेकिन, सुबह तक घर नहीं पहुंचे तो तलाश की गई। इसी बीच सोमवार दोपहर करीब एक बजे पड़ोस के खेत मालिक ने लोकेंद्र का शव ट्यूबवेल के पास पड़ा देखा। सीओ खैर इंदू सिद्धार्थ व इंस्पेक्टर टप्पल देवेंद्र कुमार ने घटनास्थल का मुआयना किया। पुलिस को घटनास्थल पर दो कारतूस व लोकेंद्र का की-पैड मोबाइल मिला है। पुलिस ने लोकेंद्र के बेटे विष्णु की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसमें रंजिश का आरोप है। लेकिन, कोई नामजद नहीं है। इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार ने बताया कि अभी कोई सुराग नहीं मिला है। सभी पहलुअों पर जांच की जा रही है।

फोन में कुछ संदिग्ध नहीं मिला

घटना के बाद गांव सारौल के लोग टप्पल थाने पहुंच गए थे। यहां सीओ ने उन्हें जल्द आरोपितों को पकड़ने का भरोसा दिलाया। स्वजन के मुताबिक, लोकेंद्र पांच भाइयों में तीसरे नंबर का था। परिवार में दो बेटे व चार बेटी हैं। हत्या के मामले में पुलिस की जांच अंधेरे में सुई तलाशने जैसी है। पुलिस को उम्मीद थी कि लोकेंद्र के मोबाइल फोन में कुछ सुराग मिलेगा। लेकिन, इसमें भी कुछ नहीं मिला। लोकेंद्र सिर्फ अपने बच्चों से ही बातचीत करता था।