अलीगढ़ [जेएनएन]: पूरे देश में मास्क विक्रेताओं ने कीमतें बढ़ा दीं हैं। इसकी कालाबाजारी भी होने लगी है। ऐसे में गरीब व जरूरतमंद लोग इसे खरीदने में असमर्थ हैं। अब पुलिस ने भी पहल की है। लॉकडाउन में ड्यूटी के साथ महिला पुलिसकर्मी मास्क बनी रही हैं।

कोरोना को ऐसे दे रहीं मात

कोरोना को मात देने के लिए मास्क बनाने में कांस्टेबल मनोरमा, विनीता, रुकमिणी, कृष्णा, सुंदरी, ङ्क्षरकी, संगीता, इंद्रेश, रजनी, कविता, प्रीति, नूरबानो, रूबी आदि चार-चार घंटे की दो शिफ्टों में काम कर रही हैं। बाजार से कपड़ा खरीदा जा रहा है। मास्क की खासीयत है कि इसे धोकर दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं। एक दिन में 700 मास्क बनाए जा रहे हैं।

कालाबाजारी को देखते हुए निर्णय

महिला पुलिसकर्मी कहती हैं कि देश हित में काम करने में अच्छा लग रहा है। एसपी सिटी अभिषेक ने कहा कि पुलिस कर्मियों की सुरक्षा का ख्याल रखा जा रहा है। बाजारों में कालाबाजारी को देखते हुए अब पुलिस लाइन में मास्क बनाए जा रहे हैं।

पीएम राहत कोष  के लिए किया दान

अलीगढ़ : शहर में दुर्गा नवमी पर तमाम परिवारों में कन्याओं का पूजन करके पैसे प्रधानमंत्री राहत कोष में दान में दिए हैं। खैर बाइपास रोड निवासी शोभित वाष्र्णेय ने बताया कि उनकी बेटी ने गुल्लक में रुपये एकत्र किए थे। दुर्गा नवमी के दिन 1001 रुपये पहले माताजी के दरबार में रखे फिर प्रधानमंत्री राहत कोष के लिए दे दिए। इसी प्रकार वैदिक ज्योतिष संस्थान के प्रमुख स्वामी पूर्णानंदपूरी महाराज के पास तमाम श्रद्धालुओं ने कन्या लांगुरा के नाम पर दान दिया। पूर्णानंदपुरी ने बताया कि 21 हजार रुपये एकत्र हुए थे, जिसे वह प्रधानमंत्री राहत कोष में भिजवाएंगे।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस