अलीगढ़ जेएनएन।  अलीगढ़ जेएनएन। दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए जमातियों को लेकर प्रशासन बेहद सर्तक है। देहात के जंगल से लेकर मस्जिदों में बेहद नजर रखी जा रही है। शुक्रवार को चंडौस क्षेत्र में पुलिस ने 12 जमाती पकड़ लिए हैं, ये सभी जंगलों के रास्तों से होकर जा रहे थे। पुलिस ने पूछताछ के बाद सभी का थर्मल चेकअप कराकर कस्बा के एक मैरिज होम में क्वारंटाइन कराया है। इसको लेकर आसपास के लोगों में खलबली मच गई है।

तब्लीगी जमात में 22 जमाती रहे शामिल

हाथरस : सासनी और हाथरस से पकड़े गए जमातियों में से 22 लोग निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के जलसे में शामिल हुए थे। प्रशासन व पुलिस ने इनपर शिकंजा कस दिया है। इनके सैंपल लेकर प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गए हैं। हाथरस के बागला कॉलेज में में क्वारंटाइन किए गए 11 लोगों को भी सासनी के केएल जैन इंटर कॉलेज में शिफ्ट कर दिया गया है, ताकि एक ही जगह इनकी निगरानी की जा सके। कस्बे के केएल जैन इंटर कालेज में क्वारंटाइन केंद्र बनाया गया है, जिसमें मंगलवार को सासनी की न्यू बिजलीघर कॉलोनी की मस्जिद से पकड़े गए 8 जमातियों को क्वारंटाइन किया गया था। ये लोग पश्चिम बंगाल और झारखंड के निवासी थे। उनके संपर्क में रहे सात अन्य लोग भी वहीं क्वारंटाइन किए गए थे। मंगलवार देर रात हाथरस के लाला के नगला से पकड़े गए 11 जमातियों को भी केएल जैन इंटर कॉलेज में शिफ्ट कर दिया गया है। इनमें पांच महिलाएं भी शामिल हैं। ये जमाती आजमगढ़ के मूल निवासी हैं। बुधवार को सासनी क्षेत्र के गांव नगला भूरा में पांच और लोगों को और चिह्नित कर क्वारंटाइन केंद्र पर भेजा गया। इन सभी में से 22 लोगों के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल होने की पुष्टि हुई है, जिनके सैंपल जांच के लिए अलीगढ़ भेजे गए हैं।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस