अलीगढ़,जागरण संवाददाता। राजकीय औद्योगिक व कृषि प्रदर्शनी के कृष्णांजलि मंच पर गुरुवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान नृत्य प्रतियोगिता (डासं पे चांस) में बच्चों ने शानदार प्रस्तुति देकर समा बांध दिया। इसमें अलग-अलग श्रेणियों में पलक, मुस्कान व कृष्णपाल ने प्रथम स्थान हासिल किया।

 बच्‍चों ने दी शानदार प्रस्‍तुति

कार्यक्रम की शुरुआत राज्य महिला आयोग की सदस्य व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रामसखी कठेरिया, पूर्व महापौर शकुंतला भारती व संयोजक अनीता सिंह ने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम में 40 बच्चाें ने भाग लिया। निर्णायक मंडल में कृष्णा राना रहीं। प्रतियोगिता तीन वर्णों में विभाजित थी। इसमें सब जूनियर में पलक तोमर प्रथम, महक द्वितीय व नितुत वार्ष्णेय तृतीय रहे। जूनियर वर्ग में मुस्कान प्रथम, माही द्वितीय, मेधांश तृतीय रहे। सीनियर में कृष्णपाल प्रथम, प्रशांत द्वितीय व तृतीय शीलनिधी व नितिन प्रजापती रहे। वहीं ग्रुप में चाचा नेहरू पब्लिक स्कूल प्रथम, भावना डांस एकेडमी द्वितीय व कामिनी ग्रुप (नारी शक्ति) तृतीय स्थान पर रहा। कार्यक्रम में भाग्य रेखा राना, संजय गुप्ता, प्रतिभा जोयाल, श्रेष्ठ, अरुन तिवारी, कमल शर्मा, रिंकू, विक्रम, हेमेंद्र सिंह, दीपक शर्मा, नावेद आदि मौजूद रहे।

संकीर्तन में झूमी कृष्णांजलि, भक्तिरस की बारिश

 अलीगढ़ : नुमाइश में गुरुवार को संकीर्तन से पूरी कृष्णांजलि झूम उठी। भक्ति रस की जमकर बारिश हुई। भजन-कीर्तन से सभी आनंद से भर उठे। अचल सरोवर कैसा हो, मान सरोवर जैसा हो, अचल हमारी शान है, शहर की पहचान है का जयघोष से अचल की स्वच्छता का सभी ने संकल्प लिया। फूलों की होली का भी सभी ने आनंद उठाया। सबसे पहले लावांशी ने गणेश वंदना से कार्यक्रम की शुरुआत की। साध्वी पुनीता चेतन ने मां शारदे तुझे आना होगा, वीणा मधुर बजाना हाेगा सुनाया कर सभी को भाव से भर दिया। उमा महाशय और सरिता गुप्ता ने भजन से सभी को मुग्ध कर दिया। प्रीति वाष्र्णेय ने अंजू, सुनीता और निशा के साथ मधुर भजन सुनाया। मुस्कान और रानी ने नृत्य पर मनमोहक प्रस्तुति दी। वैष्णवी उपाध्याय ने शिव तांडव किया। होली गीत पर आदित्य शर्मा ने भावपूर्ण नृत्य किया। मोहन लाल वर्मा ने मधुर भजन सुनाया। दल की महिला प्रमुख कृष्णा गुप्ता ने राधे किशोरी की स्तुति कर भाव से भर दिया। उन्होंने कहा कि अचल की टीम ने सरोवर को साफ करके इतिहास रच दिया। नीटू और जितेंद्र ने हरिनाम संकीर्तन पर सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया। महंत योगी कौशलनाथ ने कहा कि अचल सरोवर का अभियान स्वच्छता के लिए प्रारंभ हुआ था।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena