अलीगढ़ : अलीगढ़ के लोधा कस्बा के रोहित कुमार (29) पुत्र रेशमपाल ने शुक्रवार को भोपाल में रहने वाली एक मॉडल को उसी के फ्लैट में 12 घंटे बंधक बनाए रखा। दोनों की मुंबई में मुलाकात हुई, लेकिन अब मॉडल से शादी की जिद पर अड़ गया। विरोध करने पर रोहित सिंह ने कैंची से वार कर युवती को लहूलुहान कर दिया। रोहित ने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी किया। पुलिस अधिकारियों ने शादी कराने का वादा करने किया और स्टांप पेपर पर भी लिख कर दिया। तब 12 घंटे बाद युवती को छोड़ा।

कई वर्षों से रोहित मुंबई में रह रहे थे और फिल्मों में काम तलाश रहे थे। मॉडल बीएसएनएल के रिटायर्ड अफसर की बेटी है। भोपाल के मिसरोद इलाके में एक बहुमंजिला इमारत की पांचवीं मंजिल पर बने फ्लैट में रहती है। वह युवती एमटेक करने के बाद मुंबई में मॉडलिंग करती है। रोहित भी मुंबई में मॉडलिंग के पेशे से जुड़ा है। वह काफी दिनों से शादी करने के लिए दबाव भी बना रहा था, लेकिन युवती इसके लिए तैयार नहीं हो रही थी। शुक्रवार सुबह सात बजे रोहित युवती के फ्लैट में घुस गया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और रोहित को काबू करने की कोशिश की तो रोहित ने एक एएसआई पर भी हमला कर दिया और दरवाजा बंद कर लिया। रोहित के कहने पर बाल्टी में रखकर खाने-पीने का सामान भी पहुंचाया गया। उधर रोहित द्वारा फ्लैट का दरवाजा खोलते ही पहले युवती बाहर निकली। इसके बाद रोहित भी बाहर आया। युवती को इलाज के लिए नजदीक के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया है। रोहित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। रोहित ने एक वीडियो वायरल कर युवती व उसके साथ पुलिस द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाया है।

पंद्रह दिन पहले ही रोहित को पिता ने किया संपत्ति से बेदखल : अलीगढ़ के लोधा गांव निवासी रेशमपाल मजदूरी करके परिवार का पालन-पोषण करते हैं। आर्थिक स्थिति परिवार की काफी खराब है। मात्र 50 गज जमीन है, उस पर ही वह ईट आदि जोड़कर रहते हैं। रोहित एकलौता पुत्र है, जो कि हाईस्कूल तक पढ़ा है। दो बहनें हैं, जिनकी शादी हो गई है। ढाई साल पहले रोहित ने गांव में चोरी की थी, जिस पर कुछ लोगों ने उसकी पिटाई की। इसके बाद वह मुंबई भाग गया। वहां किसी स्टूडियो में काम करने लगा और मॉडल के संपर्क में आ गया। इस मॉडल पर शादी के लिए दबाव डालने लगा। जनवरी में मॉडल अपने घर भोपाल चली गई। फरवरी में रोहित उसके घर पहुंच गया और तमंचा दिखाकर उसे छत पर ले गया था। तब किसी तरह मॉडल को उसने छोड़ा लेकिन पुलिस के हाथ नहीं आया। इसकी तलाश में पुलिस लोधा भी आई। इस घटना के बाद परिजनों ने मॉडल को मुंबई नहीं भेजा। ग्राम प्रधान लवकुश सिंह ने बताया कि परिजनों के कहने पर वह भी लोधा थाने गए थे। पुलिस को बताया था कि रोहित से अब कुछ लेना-देना नहीं है। मॉडल को दिया था झांसा : रोहित ने मॉडल को भी झांसे में रखा था। वह मॉडल को बताता था कि उसकी अलीगढ़ में फैक्ट्री है। घर आने पर गांव के लोगों को वह मॉडल की फोटो दिखाता था। कहता था कि वह गांव में आना नहीं चाहती है, इसलिए शादी की देरी हो रही है। रोहित के साथ जो चाहो वो करो

बेटे की हरकतों से पिता रेशमपाल का दिल पूरी तरह से फट चुका था। इसलिए शुक्रवार शाम छह बजे भोपाल से किसी पुलिस अधिकारी का फोन आया था तो उन्होंने कहा कि साहब जो चाहो वो करो, अब उससे मेरा कोई लेना-देना नहीं है। ग्रामीणों के अनुसार इतना कहते ही रेशमपाल की आंखें भर आई। दोपहर तीन बजे वह भोपाल जाने की तैयारी करने लगे। वह गांव से निकल भी गए थे, मगर बताया जाता है कि किसी का साथ नहीं मिला तो वह मथुरा से पहले ही वापस आ गए। भोपाल में मॉडल को बंधक बनाने की घटना गांव में दिनभर चर्चा का विषय बनी रही।

Posted By: Jagran