जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाधी की जन्म शताब्दी 15 अक्टूबर को कांग्रेस मनाएगी। इस आयोजन को महासचिव व राज्यसभा सासद गुलाम नबी आजाद, प्रदेश के अध्यक्ष राजबब्बर संबोधित करेंगे। जिसकी तैयारियों को लेकर शनिवार को संयोजक व सांसद पीएल पुनिया ने मंडलीय बैठक में कार्यकर्ताओं को दिशा निर्देश दिए।

पुनिया ने कहा कि एक बार पूर्व प्रधानमंत्री व भाजपा नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने इंदिरा को दुर्गा की उपाधि दी थी। वे कुशल प्रशासक व विकास की मूर्ति थी।

बैठक में सतीश शर्मा, विवेक बंसल, उपेंद्र सिंह, गिरवर शर्मा, तल्हा अबरार आदि मौजूद थे। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल द्वारा सुझाए गए आयोजन स्थल मैरिस रोड स्थित धर्मपुर कोर्टयार्ड भी पहुंचे। वहीं पार्टी के जिलाध्यक्ष चौ. बिजेंद्र सिंह ने कहा कि यह आयोजन कृष्णांजलि में होगा।

इनसर्ट

कार्यकर्ताओं ने जोशीला किया स्वागत

अलीगढ़ : आगरा से आए पुनिया का मडराक, आगरा रोड पर मनोज सक्सेना, परवेज अहमद, श्याम गुप्ता, सागर सिंह तोमर,प्रवीर सक्सेना ने स्वागत किया, वहीं धर्मपुर कोर्टयार्ड में केंद्रीय पर्वेक्षक पुनिया का नफीस शेरवानी, अनिल चौहान, गौराग देव चौहान आदि ने स्वागत किया।

इनसर्ट ---

कांग्रेसियों में नोकझोंक

कांग्रेस की बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं का अहम टकरा गया। डेढ़ घटे देरी से पार्टी कार्यालय पहुंचे पीएल पुनिया के निकट पूर्व शहर अध्यक्ष तल्हा अबरार ने की पूर्व सांसद चौ. बिजेंद्र सिंह से नोंकझोंक हो गई। सिंह के अनुसार अबरार पहली पंक्ति में बैठने के इच्छुक थे। जबकि स्थान कम होने के चलते एटा, हाथरस, कासगंज सहित अन्य जिलों के पार्टी जिलाध्यक्ष व अन्य वरिष्ठ कार्यकर्ता बाहर थे। पार्टी सूत्रों का कहना है कि पीएल पुनिया को विवेक बंसल समर्थक आगरा रोड से बाइपास हाइवे ले गए। दोपहर 2.30 बजे पहुंचना था। तल्हा अबरार ने कहा कि चौ. बिजेंद्र सिंह का पहले से ही मुस्लमानों प्रति नजरिया ठीक नहीं। आज के प्रकरण की शिकायत प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर से करेंगे।

---------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप