अलीगढ़ : अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर अभी विवाद थमा नहीं है, लेकिन खैर स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में तस्वीरों को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया है। पूर्व में यहां एएमयू संस्थापक सर सैयद अहमद खान की तस्वीर लगी थी। भाजपा नेताओं की नजर तस्वीर पर पड़ी तो आपत्ति जताई गई। अब गेस्ट हाऊस से सर सैयद की तस्वीर गायब हो गई है। सवाल उठा कि गेस्ट हाउस में सर सैयद अहमद खान तस्वीर कब और किसके आदेश से लगाई गई। दूसरा सवाल उठा कि तस्वीर अचानक कहां गायब हो गई?

जांच के बीच ही गेस्ट हाउस में उसी जगह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगा दी गई। पहले तो कर्मचारी कुछ भी बोलने से बचते रहे, मगर बाद में खुद अधिकारियों ने ही शासनादेश का हवाला देते हुए मोदी की तस्वीर लगाने की बात स्वीकर की। यह बात कोई बताने के लिए तैयार नहीं है कि महात्मा गाधी, डॉ. भीमराव आबेडकर, लाल बहादुर शास्त्री, मदर टेरसा आदि की तस्वीरें तो अपनी जगह से हिली तक नहीं, मगर सर सैयद की तस्वीर कहां गायब हो गई। इस मामले को भी एएमयू में जिन्ना की तस्वीर हटाने को लेकर उठे विवाद से जोड़ा जा रहा है, जिसमें एएमयू से जिन्ना की तस्वीर न हटने से व्यथित लोगों ने सर सैयद की तस्वीर हटा दी। अधिकारियों का कहना है कि जांच कराई जा रही है कि तस्वीर कहां गई, मगर कोई नतीजा निकलने की उम्मीद कम ही है। हालांकि इस मामले में जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने जांच के आदेश कर दिए हैं।

Posted By: Jagran