अलीगढ़, जागरण संवाददाता। उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में बिजली विभाग की एक और कारस्तानी सामने आई है। आरोप है कि लोधा ब्लाक के गांव बाढ़ौन में उपभोक्ता के मीटर के तार मुख्य लाइन से नहीं जोड़े और बिजली चोरी का आरोपित बनाकर एक लाख से अधिक जुर्माना ठोक दिया। उपभोक्ता पर एक लाख नौ हजार रुपये का राजस्व निर्धारण कर दिया है। उपभोक्ता बकाया से बचने के लिए जेई से लेकर एक्सईएन तक के चक्कर लगा रहा है, मगर राहत नहीं मिल रही है। अधीक्षण अभियंता राघवेंद्र सिंह का कहना है कि शिकायत आने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

यह है मामला

बाढ़ौन निवासी मोहित तोमर का कहना है कि उनके पिता राजेंद्र सिंह तोमर के नाम से कनेक्शन था। उस समय फिक्स चार्ज से बिल देना पड़ता था। बाद में अनिवार्यता होने पर विभाग से मीटर लगवा दिया गया। पीड़ित का कहना है कि उन्होंने डिगसी बिनूपुर बिजलीघर के अवर अभियंता को 22 दिसंबर 2019 को विभाग को लिखित में कई बार अवगत कराया कि मीटर के तार मुख्य लाइन से जोड़ दिए जाएं। फोन पर भी जोड़ने को कहा गया था।

मीटर में डिस्‍पले भी नहीं

Electricity Thief in Aligarh डिगसी बिनूपुर बिजलीघर के अवर अभियंता को 29 मई 2021 को लिखित में मीटर के तार जोड़ने का आवेदन दिया। आरोप है कि अवर अभियंता ने मीटर चेक किया तो खराब बता दिया। उपभोक्ता निरीक्षण आख्या में लिखा गया है कि मीटर सप्लाई नहीं निकाल रहा है और डिस्पले भी नहीं आ रहा है। जिसकी वजह से उपभोक्ता ने अलग से केबल डाल रखी है।

बिजली चोरी का लगाया आरोप

मोहित तोमर का कहना है कि एसडीओ के नेतृत्व में आई टीम ने 13 सितंबर 2021 में चेकिंग के दौरान बिजली चोरी करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करा दिया। एक लाख नौ हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। अधीक्षण अभियंता राघवेंद्र सिंह का कहना है कि शिकायत आने पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena