हाथरस, संवाद सहयोगी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का प्रतिनिधि मंडल शहर के बागला डिग्री कालेज के प्राचार्य से मिला। अभाविप के कार्यकर्ता महाविद्यालय में व्याप्त शैक्षिक समस्याओं के समाधान हेतु प्राचार्य से मिले। अभाविप के कार्यकर्ताओं ने 11 सूत्रीय ज्ञापन प्राचार्य को सौंपा है। पदाधिकारियों ने चेतावनी दी है कि यदि समस्याओं का निरस्तारण नहीं होता है। तो संगठन को आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा।

ये रखीं मांगे

दिए गए ज्ञापन में पदाधिकारियों ने कहा है कि महाविद्यालय में प्रत्येक विषय के अध्यापक कक्षाओं में विद्यार्थीयों को पढ़ाने समय से पहुंचे। महाविद्यालय में बाहरी लोगों (अराजक तत्वों) का प्रवेश वर्जित हो तथा बिना आई.डी. कार्ड व बिना यूनिफार्म के विद्यार्थियों का प्रवेश महाविद्यालय में वर्जित हो। महाविद्यालय में चौकीदार की व्यवस्था की जाए। महाविद्यालय में नशीले पदार्थो (बीड़ी, तंबाकू) का सेवन निषेध हो। महाविद्यालय के पार्क में अनावश्यक कोई भी विद्यार्थी न बैठे। महाविद्यालय की कक्षाओं के समापन के बाद सभी विद्यार्थियों को घर भेज दिया जाए। महाविद्यालय में व्याप्त गंदगी को साफ कराया जाए। शौचालय की सफाई प्रतिदिन कराई जाए। महाविद्यालय में विद्यार्थियों के अनुपात में शिक्षकों की व्यवस्था की जाए। अग्निशमन यंत्र, पेयजल व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था तथा शौचालय व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए। स्कालरशिप के फार्म जमा करने में विद्यार्थियों को दिक्कत होती है छात्र तथा छात्रा लाइन अलग - अलग लगवाई जाएं। पुस्तकालय में महाविद्यालय के सभी विषयों की पुस्तकें प्राप्त नहीं हो पाती हैं। और जो उपलब्ध है, वह पुराने संस्करण की है। सभी विषयों की नई व अपडेट संस्करण की पुस्तकें उपलब्ध कराई जाएं। खेलकूद के विषयों एवं प्रयोग हेतु आवश्यक उपकरण एवं सामग्री की व्यवस्था की जाए। महाविद्यालय के अनुशासन हेतु अनुशासन समिति को सक्रिय किया जाए ताकि महाविद्यालय में अनुशाशन हीनता न हो। प्रांत सह सोशल मीडिया संयोजक विकास शर्मा ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एक जागरूक छात्र संगठन होने के नाते सामाजिक एवं राष्ट्र हित के कार्य में निरंतर अपनी भूमिका में रहता है। वर्तमान में वैश्विक महामारी में भी विद्यार्थी परिषद समाज के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है चाहे वह सेवा कार्य हो या छात्रों के लिए परिषद की पाठशाला का आयोजन हो।

ये रहे मौजूद

नगर मंत्री हाथरस गौरव रावत ने कहा कि प्राचार्य को शांतिपूर्ण तरीके से ज्ञापन सौंपा है। तथा 8 दिन में समस्या के समाधान करने को कहा है। यदि 8 दिन में समस्या का समाधान नही हुआ और कार्यवाही न हुई तो विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी महाविद्यालय प्रशाशन की होगी। प्रतिनिधि मंडल में प्रांत सह सोशल मीडिया संयोजक विकास शर्मा, नगर विस्तारक राज मिश्रा, नगर मंत्री हाथरस गौरव रावत, नगर मंत्री लाडपुर करन दीक्षित, गोपाल अग्निहोत्री, ललित, तिलक सक्सेना तथा अर्पित शामिल थे।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena