अलीगढ़ : कक्षा एक से आठ तक के सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने को नई व्यवस्था लागू होने वाली है। एक परिसर में चलने वाले प्राथमिक व जूनियर हाईस्कूल में अब एक ही हेडमास्टर की जिम्मेदारी होगी। जिले में ऐसे तमाम परिसर हैं, जिनमें प्राइमरी व जूनियर स्कूल हैं। कहीं तो तीन से चार स्कूल एक ही परिसर में संचालित हैं। हर स्कूल का एक हेडमास्टर होता है। एक जगह चार स्कूल हैं तो चार हेडमास्टर होते हैं। अब नई व्यवस्था में ऐसे चारों स्कूलों में जूनियर हाईस्कूल के हेड को सभी कागजी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

हेडमास्टर एमडीएम व स्कूल की हर कागजी प्रक्रिया से पूरी करेगा। बाकी स्कूलों के हेड यथावत उसी पद पर रहेंगे। उनको केवल शिक्षण कार्य कराने की जिम्मेदारी होगी। इस संबंध में शासन ने जिले से ऐसे परिसरों की सूची मांगी है। अलीगढ़ में ग्रामीण क्षेत्र में 366 व शहर में 32 समेत कुल 398 परिसर ऐसे हैं जहां प्राइमरी व जूनियर हाईस्कूल एक परिसर में चलते हैं।

कागजी व शिक्षण कार्य बनेंगे चुनौती

एक हेडमास्टर पर एक से ज्यादा स्कूल के कागजी काम देखने में उसके लिए शिक्षण कार्य करा पाना चुनौती होगा। एमडीएम, ड्रेस, किताब, जूते-मोजे बांटना आदि कई योजनाओं के काम हेडमास्टर देखते हैं।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय का कहना है कि काफी समय पहले सूची मांगी गई थी, जो भेज दी गई है। पहले सूची इसी व्यवस्था की मंशा से मंगाई गई थी। अब शासन इस पर क्या निर्णय लेता है? ये आदेश आने के बाद स्पष्ट होगा।

By Jagran