कार्यालय संवाददाता, अलीगढ़ : अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के छात्र आवासीय हॉल के बंद कमरे से रविवार को असलाह बरामद हुए। प्रॉक्टर टीम ने इन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। लेकिन पुलिस को दी तहरीर में प्रॉक्टर ने यह साफ नहीं किया कि कमरे में कौन छात्र रह रहा है? प्रॉक्टर टीम ने सूचना मिलने पर छापा मारा।

डॉ. भीमराव अंबेडकर हॉल के बी ब्लॉक के कमरा नंबर-6 से प्रॉक्टर टीम ने दो तमंचे, 315 बोर के तीन कारतूस, एक 12 बोर का कारतूस और एक मोबाइल बरामद किया। छापेमारी के वक्त कमरे का दरवाजा खुला था, लाइट और पंखा चल रहा था। लेकिन कोई छात्र मौजूद नहीं था। यूनिवर्सिटी रिकॉर्ड के अनुसार यह कमरा आजमगढ़ के बीएएलएलबी द्वितीय वर्ष के छात्र अबू समरा इकबाल के नाम आवंटित है। कुछ वक्त पहले आजमगढ़ का ही विधि विभाग का रिसर्च स्कॉलर भी इसी कमरे में रहता था। प्रॉक्टर ने सिविल लाइंस थाने में तमंचे व कारतूस बरामदगी की तहरीर दी है।

वर्जन..

अंबेडकर हॉल के कमरे से असलाह बरामद कर एएमयू प्रॉक्टर ने दिए है। कमरे में कौन छात्र रहता है, इसकी जानकारी यूनिवर्सिटी इंतजामिया ने नहीं दी।

- सोमवीर सिंह, इंस्पेक्टर, सिविल लाइंस

सूचना पर छापेमारी की गई। कमरा बीएएलएलबी द्वितीय वर्ष के छात्र का है। फिलहाल वह फरार है। उस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है। पुलिस को भी छात्र का नाम बता दिया जाएगा।

- राहत अबरार, पीआरओ, एएमयू

------

इनसेट--

बाहरी छात्रों को रखता था साथ

इस कमरे में अबू समरा रिकॉर्ड में अकेले रह रहा था। हॉल के कुछ छात्रों की मानें तो अनाधिकृत रूप से उसके साथ कई और युवक रहा करते थे। जो एएमयू से नहीं थे। आखिर ऐसा कैसे होता था? जबकि एएमयू के आवासीय हॉल में कोई भी बाहरी ठहर नहीं सकता।

कमरे में बंद रहे छात्र

अंबेडकर हॉल के कमरा नंबर 6 में छापेमारी से पहले प्रॉक्टर टीम ने वहां रहने वाले सभी छात्रों को कमरे का दरवाजा बंद कर बैठने को कहा। छात्रों से पूछताछ भी की गई।

.......

वीएम हॉल की घटना से जुड़े तार

छापेमारी का खेल यूं ही नहीं चला। इस छापेमारी का कारण वीएम हॉल गोलीकांड बताया रहा है। सूत्र बताते हैं कि शुक्रवार देर रात वीएम हॉल के छात्र जीशान की बुलेट फूंकने में बाहरी युवकों के अलावा कुछ एएमयू छात्रों का हाथ था। उनमें से एक छात्र अंबेडकर हॉल में रहता था। प्रॉक्टर टीम को इसकी भनक लग गई थी। यह भी मालूम हुआ कि छात्र जीशान को मारने के लिए इन्हीं तमंचों को लेकर गए थे। एक खाली कारतूस भी मिला, जो इशारा करता है कि इन तमंचों का इस्तेमाल कैंपस में ही हो चुका है।

इनसेट ::::

पुरानी रंजिश या चुनाव की तैयारी

अंबेडकर हॉल के कमरे से तमंचे व कारतूस मिलना वीएम हॉल घटना से जुड़ी बताई जा रही है। अगर ऐसा है तो इन असलाहों की बरामदगी से पहले वीएम हॉल की घटना को कुछ लोग इसे प्रशासनिक ब्लॉक में पांच महीने पहले के गोलीकांड की रंजिश करार रहे थे, लेकिन असलाह बरामदगी के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि इसे होने वाले छात्रसंघ चुनाव की गुटबाजी में वर्चस्व की लड़ाई की शुरुआत है। जीशान बिहार का रहने वाला है। तमंचे जिस कमरे से बरामद हुए, वहां आजमगढ़ का छात्र रहता था। छात्रसंघ चुनाव को लेकर आजमगढ़ और बिहार के बीच की लड़ाई एएमयू में काफी पुरानी है।

------------

इंतजामिया नहीं रोकती अवैध रिहायश

अंबेडकर हॉल के प्रोवोस्ट डॉ. मोहम्मद जफर महफूज नोमानी का कहना है कि आरोपी छात्र अबू समरा इकबाल पढ़ने में बेहद अच्छा है। उसे किसी ने साजिश के तहत फंसाने का प्रयास किया गया है। रही हॉल में अवैध रिहायश की बात तो इंतजामिया नहीं रोकती। डॉ. नोमानी ने बताया कि वह पूर्व कोर्ट मेंबर शुजातउल्ला और मोहम्मद जोहरेज अवैध रूप से हॉल में रहने की शिकायत प्रॉक्टर व इंतजामिया के अधिकारियों से कर चुके हैं, लेकिन उन्होंने एक्शन नहीं लिया। कह दिया कि प्रोवोस्ट के कार्यक्षेत्र में है उसके हॉल का जिम्मा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर