जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : सरकारी स्कूलों में बुरा हाल है। तीन स्कूल में छह छात्रों पर तीन प्रधानाध्यापक, तीन अध्यापक व एक शिक्षामित्र होने के बाद भी ठीक से पढ़ाई नहीं हो रही। कुछ स्कूलों में शिक्षक पहुंच ही नहीं रहे हैं। कुछ गंदगी के शिकार है। निरीक्षण के दौरान इस तरह के हालात देख बीएसए धीरेंद्र कुमार ने प्रधानाध्यापक समेत दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया। कई की वेतन वृद्धि रोक दी और कुछ का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं।

बीएसए एक मई को सुबह 7:45 बजे लोधा ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय नगला मान सिंह पहुंचे, स्कूल बंद मिला। गैर हाजिर होने पर प्रधानाचार्य सुशीला वर्मा को विद्यालय में सुधार होने तक वेतन वृद्धि रोके जाने व अध्यापक स्नेहा, रवींद्रपाल, भावना, संगीता, प्रियंका, प्रभा, प्रीतिवाला का एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए गए। पूर्व माध्यमिक विद्यालय नगला मान सिंह 8:15 बजे बंद मिला। यहां प्रधानाध्यापक अनीता रानी का विद्यालय में सुधार न होने तक वेतनवृद्धि रोकने और सहायक अध्यापक अशोक कुमार को निलंबित करने के आदेश दिए गए हैं।

प्राथमिक विद्यालय महुआ खेड़ा का 9:15 बजे निरीक्षण किया। यहां सबकुछ ठीक मिला। पूर्व माध्यमिक विद्यालय महुआ खेड़ा में 8:45 बजे निरीक्षण किया गया। विद्यालय में गंदगी और शैक्षणिक माहौल सही न होने पर प्रधानाध्यापक वाकर रजा, सहायक अध्यापक जंगजीत सिंह, सहायक अध्यापक रमेश चंद्र की वृद्धि वेतन रोकने के आदेश दिए हैं।

ब्लॉक धनीपुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय अलीनगर का सुबह 8:30 निरीक्षण किया गया। प्रधानाध्यापिका नीतू सिंह व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ओमप्रकाश अनुपस्थित मिले। प्रधानाचार्य की वेतनवृद्धि रोकने और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का एक दिन का वेतन कटेगा।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय देवी नगला में 8:50 निरीक्षण किया गया। इसमें रेनू गुप्ता फोन पर बात कर रहीं थीं। रंगाई पुताई न होने व गंदगी मिलने पर एक सप्ताह में सुधार न होने पर प्रधानाध्यापक का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के आदेश दिए।

इससे पहले 29 अप्रैल को लोधा ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय ल्हौसरा का सुबह 8:15 बजे निरीक्षण किया। सहायक अध्यापिका सुषमा रानी के बिना अवकाश स्वीकृत कराने पर वेतन काटे जाने के आदेश दिए। प्राथमिक विद्यालय लोधा नंबर एक में सुबह 8:40 बजे निरीक्षण में दो ही छात्र मिले। यहां प्रधानाध्यापक मुनव्वर जहां की वेतनवृद्धि रोकने, सहायक अध्यापिका नजमा फारुकी, शिक्षा मित्र सुमन उपाध्याय का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के आदेश दिए हैं।

पूर्व मा. विद्यालय लोधा का सुबह 8:50 बजे निरीक्षण में दो ही छात्र मिले। लापरवाही पर प्रधानाध्यापक विमलेश कुमारी को निलंबित कर दिया, सहायक अध्यापिका मोदिका वाष्र्णेय का वेतन रोकने के आदेश दिए।

पूर्व मा. विद्यालय परसारा में सुबह 9:15 बजे निरीक्षण में दो ही छात्र थे। यहां प्रधानाध्यापक अतुल पारखी मोबाइल पर बात कर रहे थे। सहायक अध्यापिका विमलेश कुमारी बैठे हुई थीं। यहां गंदगी मिली। दोनों के वेतन वृद्धि रोकने और वेतन रोके जाने के आदेश दिए हैं।

Posted By: Jagran