जासं, अलीगढ़ : खैर के कॉलेज प्रबंधक विजय गंगल हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने दो और संदिग्ध उठाए हैं। पुलिस सूत्रों का दावा है कि इनके जरिये कई अहम सुराग हाथ लगे हैं, जो केस को खोलने में अहम साबित हो सकते हैं। इनसे अभी विस्तृत पूछताछ जारी है। कड़ियां जुड़ पाईं तो पुलिस जल्द मामले का पर्दाफाश कर देगी।

खैर के कॉलेज प्रबंधक विजय गंगल की 12 अप्रैल की रात गोली मारकर उस वक्त हत्या की गई थी, जब वह प्रतिष्ठान के बाहर खड़े होकर किसी से बात कर रहे थे। घटना के कुछ देर पहले ही वह अंदर से उठकर बाहर आए थे। अंदर पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ समेत कई दोस्तों से गपशप हो रही थी। एक महीने से ज्यादा वक्त बीतने के बावजूद पुलिस अभी तक न हत्यारों को पहचान पाई, न ही हत्या की वजह को। इसके लिए पुलिस ने औपचारिक, अनौपचारिक रूप से सौ से ज्यादा लोगों से पूछताछ की। कभी हत्या के पीछे जमीनी विवाद का शक जताया गया तो कभी कॉलेज प्रबंधन से जुड़े विवाद का। मगर, पुलिस हवा में ही तीर चलाती रही। एसटीएफ को जांच में साथ लगाने पर अब ठोस सुराग हाथ लगने के दावे हो रहे हैं। बताते हैं कि जिस बाइक से हत्यारे आए थे, उसका पता लग गया है। हालांकि, यह कहना अभी बहुत जल्दबाजी ही है। इस बाबत एसपी देहात डॉ. यशवीर सिंह कहते हैं कि जल्द ही घटना का पटाक्षेप हो जाएगा। वैसे, पुलिस ऐसा दावा हफ्तेभर पहले भी कर चुकी है। ऐसे में पुलिस के दावों पर भी सवाल उठने लगे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप