जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : तकनीक के क्षेत्र में हम कितने भी आगे बढ़ गए हों, मगर गरीब महिलाएं अभी भी धुएं के बीच चूल्हे पर खाना बनाने को मजबूर हैं। जिले में 1.61 लाख परिवार ऐसे हैं, जहां मिट्टंी के चूल्हे पर खाना बनाया जाता है। 4.50 लाख परिवारों के पास रसोई गैस कनेक्शन है।

6.11 लाख परिवार : 2011 की जनगणना के अनुसार जिले की आबादी 3673884 है और परिवार 6.11 लाख हैं। जिले में तीन कंपनियां इंडेन, भारत व ¨हदुस्तान पेट्रोलियम रसोई गैस कनेक्शन देती हैं। तीनों कंपनियों के 4.5 लाख परिवारों के पास कनेक्शन हैं। 1.61 लाख परिवारों में चूल्हे पर खाना बनता है।

95 फीसद तक गांव : शहर-कस्बों में कुछ परिवारों को छोड़ दिया जाए तो अधिकांश में गैस पर खाना बनता है। चूल्हे पर खाना बनाने वालों में 95 फीसद परिवार गांवों में हैं। 24 हजार परिवार खाना बनाने में स्टोव का इस्तेमाल करते हैं।

.........

उज्ज्वला योजना में 74

हजार को मिले कनेक्शन

तीन साल पहले केंद्र सरकार ने गरीब परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए उज्ज्वला योजना शुरू की थी। इसमें बीपीएल व अंत्योदय कार्डधारकों को मुफ्त गैस कनेक्शन व सिलेंडर दिए जाते है। योजना में 74 हजार परिवारों को मुफ्त कनेक्शन व सिलेंडर देकर लाभान्वित किया जा चुका है। एक लाख से अधिक लोगों ने इस अवधि में अपने पैसे से गैस कनेक्शन कराया। सरकार ने योजना में बदलाव कर इसका नाम उज्ज्वला प्लस कर दिया है। अब इसमें अनुसूचित जाति के सभी परिवारों व मनरेगा कार्डधारकों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया जा रहा है। आज 5500 को मिलेंगे

रसोई गैस के कनेक्शन

स्वराज अभियान के तहत शुक्रवार को उज्ज्वला दिवस मनाया जाएगा। इसमें गैस एजेंसी पर कार्यक्रम होंगे। सभी 55 एजेंसी पर 100-100 मुफ्त गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। इस तरह से साढ़े पांच हजार कनेक्शन बांटे जाएंगे। मुख्य कार्यक्रम कृष्णांजलि में होगा। इसमें 550 गैस कनेक्शन बांटे जाएंगे।

...........

जिले में अभी डेढ़ लाख से ज्यादा परिवारों के पास रसोई गैस कनेक्शन नहीं है। अब उज्ज्वला प्लस योजना में सभी गरीबों को मुफ्त कनेक्शन दिए जाएंगे।

नीरज सिंह, डीएसओ

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप