जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : शहर के अतिसंवेदनशील बाबरी मंडी इलाके में गुरुवार को 'तीन तलाक' का मुद्दा गरमा गया। एक ही संप्रदाय के दो पक्ष आमने-सामने आ गए। मारपीट, पथराव व फाय¨रग हुई। घरों में घुसकर तोड़फोड़ की गई। महिलाओं को भी पीटा गया। तीन लोग चुटैल हो गए। बड़ी संख्या में पहुंचे फोर्स को देख हमलावर भाग निकले। सीसीटीवी कैमरों से चिह्नित कर उनकी तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि हमलावर एक हिस्ट्रीशीटर के इशारे पर कासिम नगर से आए थे।

कोतवाली क्षेत्र के बाबरी मंडी स्थित सैयदबाड़ा में शिया व सुन्नी समाज के परिवार रहते हैं। शिया समाज के चार परिवार हैं, जिनमें एक मंजीर हैदर का है। बाकी परिवार इन्हीं के रिश्तेदारों के हैं। बुजुर्ग मंजीर हैदर की मानें तो वह व उनका परिवार 'तीन तलाक' पर केंद्र सरकार के पक्ष में हैं। उनका समाज भी समर्थन करता है। दूसरा पक्ष विरोध में है। इसी मुद्दे पर पड़ोसी आए दिन छींटाकशी करते रहते हैं। मंजीर ने बताया कि उनका साला अनवर हैदर इमामबाड़े की देखरेख करता है। गुरुवार सुबह आठ बजे अनवर इमामबाड़ा गया था। वहां दूसरे पक्ष के युवकों ने प्रधानमंत्री मोदी का नाम लेकर चिढ़ाना शुरू कर दिया। तीन तलाक को लेकर भी आरोप-प्रत्यारोप लगाए। विरोध किया तो अनवर के साथ मारपीट कर दी। स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप पर वे लोग तब वहां से चले गए। दोपहर के वक्त इलाके के एक दबंग व्यक्ति के इशारे से कासिम नगर से उसके कुछ रिश्तेदार और परिचित बाइक पर आए और हमला कर दिया। छतों पर चढ़कर पथराव किया। आठ-दस राउंड फाय¨रग की। हमलावर घरों में घुस आए। तोड़फोड़ कर दी। विरोध करने पर महिलाओं को पीटा। अनवर व उनकी पत्‍‌नी रियाज बानो से मारपीट की। पुत्रवधू शबनम पर भी हाथ उठाया। मारपीट में तीनों लोग जख्मी हो गए। पीएसी के साथ पहुंचे सीओ प्रथम राजकुमार सिंह, इंस्पेक्टर सासनीगेट जितेंद्र दीखित, इंस्पेक्टर देहलीगेट ध्रुव कुमार, कोतवाली इंस्पेक्टर जमील अहमद ने स्थिति को नियंत्रण में लिया। पुलिस ने हमलावरों की तलाश में कई स्थानों पर दबिश दी, मगर हाथ नहीं लगे। पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। देरशाम मंजीर पक्ष की ओर से कोतवाली में तहरीर दी जा रही थी। मंजीर दर्जी का काम करते थे। बुजुर्ग होने के कारण अब उन्होंने यह काम छोड़ दिया है।

..

सैयदबाड़ा में दो परिवारों का झगड़ा था। फाय¨रग की घटना एक पक्ष की ओर से बताई गई थी, मौके पर किसी ने फाय¨रग होने की बात नहीं कही। हमलावरों को सीसीटीवी कैमरे से चिह्नित कर कार्रवाई की जा रही है।

राजेश पांडेय, एसएसपी