अलीगढ़ [जेएनएन]:उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में मंगलवार को आठ मरीजों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। इनमें एक स्टेट बैंक के डिप्टी मैनेजर व छह कैदी भी शामिल हैं। कोरोना की दहशत के बीच अच्छी खबरें भी आ रही हैं। मंगलवार को जेएन मेडिकल कॉलेज से चिकित्सा विभाग को भेजी गई 117 लोगों की रिपोर्टों में से 110 निगेटिव आई है। एक बुजुर्ग महिला ने अपनी इच्छाशक्ति और जाबांज डॉक्टरों-स्वास्थ्य कॢमयों की देखरेख में ङ्क्षजदगी की जंग जीत ली। बैंक अधिकारी व हाल ही जमानत पर रिहा हुए छह लोगों समेत सात की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बैंक अधिकारी की जांच दिल्ली में हुई है। अब सक्रिय मरीजों की संख्या 72 है। अब तक 174 संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 85 स्वस्थ हो चुके हैं। 17 की मौत हो चुकी है।

निगेटिव रिपोर्ट आने पर महिला को घर भेजा

माणिक चौक की 80 वर्षीय महिला  21 मई को अन्य दो महिलाओं के साथ पॉजिटिव रिपोर्ट आई। बुजुर्ग महिला का मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा था। रिपोर्ट निगेटिव आने पर इस महिला को घर भेज दिया। वहीं,  गभाना में  गांव पैरई की 85 वर्षीय  महिला और हरदुआगंज थाना क्षेत्र के छह लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सीएमओ डॉ. भानुप्रताप कल्याणी ने बताया कि संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए तमाम लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं, मगर राहत की बात है कि ज्यादातर निगेटिव पाए गए हैं।

अतरौली भेजे संक्रमित मरीज

जिला कारागार के संक्रमित मरीजों को अतरौली कोविड हॉस्पिटल व बुजुर्ग संक्रमित महिला को दीनदयाल कोविड हॉस्पिटल में भर्ती किया जाएगा। बैंक अधिकारी का उपचार दिल्ली में चल रहा है।

13 दिन बाद भी नहीं आई जांच रिपोर्ट

 अनुसूचित मोर्चा के महानगर अध्यक्ष संदेश राज ने बताया कि दुर्गापुरी में बाल्मीकि समाज की महिला कोरोना संक्रमित पाई गई थी। चार दिन बाद शहर विधायक व उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप पर मोहल्ले 24 लोगों के सैंपल लिए गए। सैनिटाइजेशन भी हुआ। 13 दिन बीच चुके हैं, लेकिन उन लोगों की रिपोर्ट नहीं आई। 22 मई को सीएमओ को फोन कर इस संबंध में बताया भी गया, मगर सुनवाई नहीं हुई। इनमें से एक व्यक्ति ने प्राइवेट जांच कराई थी, रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस संबंध में उच्च स्तर पर शिकायत की जाएगी।

Posted By: Sandeep Saxena

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस