जासं, अलीगढ़: खैर सीएचसी से संबद्ध 108 सेवा एंबुलेंस के कर्मचारी की बुधवार तड़के आगरा-लखनऊ हाईवे पर हुए हादसे में मौत हो गई। पुलिस के अनुसार चालक को झपकी आने के कारण एंबुलेंस डिवाइडर से टकराकर पलट गई। हादसे में चालक समेत दो लोग घायल हो गए। घायलों को कन्नौज के तिर्वा मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। हादसा बुधवार तड़के चार बजे छिबरामऊ तहसील के तालाग्राम थाना क्षेत्र में हुआ। हादसे के दौरान इलाके में अफरातफरी मच गई।

एटा के थाना निजामपुर के गांव मनुपुर कासौन निवासी इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन (ईएमटी) विनीत खैर सीएचसी के अंतर्गत 108 सेवा एंबुलेंस पर तैनात था। बुधवार को वह एंबुलेंस चालक जिला मथुरा के थाना मांट के गांव नगला बैंसला निवासी कृष्णा व आगरा के थाना एत्मादपुर के गांव भागूपुर निवासी राजेश के साथ एंबुलेंस की फिटनेस कराने के लिए लखनऊ जा रहा था। तड़के चार बजे चालक को झपकी आने पर एंबुलेंस अनियंत्रित होकर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर तालग्राम थाना क्षेत्र के 165 किमी पर डिवाइडर से टकरा कर पलट गई। हादसे में तीनों लोग घायल हो गए। यूपीडा कर्मियों ने उन्हें कन्नौज के तिर्वा मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। उपचार के दौरान विनीत ने दम तोड़ दिया। हादसा इतना जबरदस्त था कि एंबुलेंस के परखच्चे उड़ गए। स्वजन विनीत के शव को एटा ले गए, जहां पर देररात शव का दाह संस्कार कर दिया गया। एंबुलेंस सर्विस कंपनी के डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम मैनेजर मोहम्मद अरशद समेत अन्य कर्मचारी एटा पहुंचकर दाह-संस्कार में शामिल हुए।

उन्होंने बताया कि विनीत की दो बेटियां (डेढ़ साल व छह माह) हैं। बड़े भाई आर्मी से सेवानिवृत्त होकर दिल्ली पुलिस में कार्यरत हैं। माता-पिता के अलावा एक बहन की जिम्मेदारी थी। उधर, सीएमओ आफिस के लिए फरीदाबाद से जेनरेटर लेकर आ रही गाड़ी का दिल्ली के पास हादसा हो गया। इसमें चालक की मृत्यु होने की सूचना है।

Edited By: Jagran