आगरा, जेएनएन। दिल्ली के शाहीनबाग निवासी 26 वर्षीय कपिल अग्रवाल की हत्या उसकी पत्नी ने अपने प्रेमी व उसके दोस्त के साथ मिलकर की थी। सुबूतों के आधार पर पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

10 फरवरी को कपिल अग्रवाल, पत्नी द्वारा दायर किए गए गुजारा भत्ते के मुकदमे की पैरवी में दिल्‍ली से फीरोजाबाद आया था। इसके बाद वह रहस्यमय परिस्थितियों में गायब हो गया। 15 फरवरी को रामगढ़ क्षेत्र में आकाशवाणी रोड किनारे नाले में मिला था। इस मामले में कपिल की बहन ने उसकी पत्नी खुशबू पुत्री किशन लाल निवासी भोले की ठार आसफाबाद समेत आधा दर्जन ससुरालीजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने खुशबू और उसकी मां को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने बताया कि खुशबू और कपिल की शादी छह साल पहले हुई थी। साढ़े तीन साल पहले पति पत्नी में झगड़ा शुरू हो गया। वह कपिल के साथ रहने को तैयार नहीं थी और वह उसे तलाक नहीं दे रहा था। इसके बाद वह साढ़े तीन साल के बेटे जिगर के साथ मायके आ गई और गुजारा भत्ता पाने के लिए मुकदमा कर दिया। मुकदमे की पैरवी के लिए ही कपिल 10 फरवरी को यहां आया। दीवानी में तारीख पर मुलाकात के दौरान खुशबू ने बताया के बच्चे के पैर में चोट लग गई है। इसके बाद वह उनके साथ चला गया। एसपी सिटी ने बताया कि पूछताछ में पत्नी ने जुर्म कुबूल कर लिया। पूर्व नियोजित साजिश में खुशबू ने अपने प्रेमी चंदन उर्फ जय किशोर निवासी मोढ़ा रसूलपुर और उसके दोस्त प्रमोद निवासी राठौर नगर आसफाबाद ने मिलकर हत्या कर दी और लाश को नाले में फेंक दिया। एसपी ने बताया कि मुकदमे में नामजद आरोपितों की जांच की जा रही है।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस