आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में आंधी और तूफान के बाद हुई बारिश से आम नागरिक का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। कहीं पानी की टंकियां उड़कर पड़ोसियों की छत पर गिरने लगीं तो वहीं रामबाग चौराहे पर लगा साइनेज बोर्ड गिरने से मार्ग बंद हो गया। गनीमत रही कि बड़ा हादसा होने से टल गया। साइनेज बोर्ड में करंट आने के बाद पुलिस ने बैरिकेडिंग कर राहगीरों को जाने से रोक दिया। 

 रविवार को दोपहर करीब 2 घंटे तक तेज तूफान और आंधी के बाद आई बारिश से यमुनापार में जीवन अस्त व्यस्त हो गया। नगला रामबल में एक पेड़ टूट कर गिर गया। रामबाग चौराहे पर करीब 4 बजे तेज बारिश के बाद आई हवा की चपेट में आने से रामबाग चौराहे पर लगा साइनेज बोर्ड अचानक गिर गया। जिसके बाद बोर्ड के आसपास खड़े हुए क्षेत्रीय लोगों में दहशत फैल गई। तेज आवाज के साथ बोर्ड गिरने पर राहगीर वहां से भागने लगे।  जब बोर्ड गिरा तो  गनीमत यह रही कि उस समय उस स्थान पर कोई राहगीर मौजूद नहीं था। बोर्ड गिरने के बाद उसमे करंट आ गया। बोर्ड में करंट आने के बाद लोगों में भगदड़ मच गई। जानकारी मिलते ही थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। थाना पुलिस ने बैरिकेडिंग करके आने जाने वाले राहगीरों को रोक दिया। साइनेज बोर्ड में करंट लगने की जानकारी टोरंट पावर को दी गई। करीब 30 मिनट के बाद टोरंट पावर की टीम मौके पर पहुंची।

राहगीर हो रहे परेशान, जाम के हालात

रामबाग चौराहे पर साइन बोर्ड गिरने के बाद रास्ता बंद होने से राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना उठाना पड़। राहगीरों को अब दो किलोमीटर तक चलकर जाना पड़ रहा है। जिसके चलते वहां पर जाम के हालात पैदा हो गए। थाना पुलिस पहुंचकर व्यवस्था को सुधारने में लगी हुई है।  

Edited By: Tanu Gupta