आगरा, जागरण संवाददाता। agra tempreatue मौसम का मिजाज तेजी से बदल गया है। ताजनगरी में बर्फ भले ही नहीं गिरे लेकिन 12 अक्टूबर तक आप फुहारों का मजा ले सकते हैं। सूरज के भी कम ही दर्शन होंगे। इससे ठंड का अहसास होगा। दिन और रात के तापमान में तेजी से कमी आएगी। गर्मी और उमस से राहत मिलेगी।

agra ka mausam रात के तापमान में कमी का अनुमान

मौसम विभाग के निदेशक डा. जेपी गुप्ता ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम वायुदाब क्षेत्र बना हुआ है। पहले के मुकाबले यह कमजोर हुआ है लेकिन ऊपरी भाग में चक्रवात बन गया है। इससे पूर्वी मध्य प्रदेश से उत्तराखंड तक ट्रफ लाइन बनी है। यह लाइन 3.1 किमी की ऊंचाई पर है। उन्होंने बताया कि कम वायु दाब क्षेत्र से निकलने वाली रेखा को ट्रफ लाइन कहते हैं। यह लाइन बदलती रहती है।

weather agra today दो सप्ताह की देरी से हुआ मानसून विदा

दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी हो चुकी है। इस साल दो सप्ताह की देरी से मानसून की वापसी हुई है। वहीं सूरज के भी कम दर्शन होंगे। दिन और रात के तापमान में कमी आने से ठंड का अहसास होगा।

ये भी पढ़ें... Meet At Agra 2022: जुटेंगे 45 देशाें के कारोबारी, आगरा को दुनिया की 'Footwear Capital' बनाने का है लक्ष्य

आगरा का मौसम: सितंबर महीने में आगरा में 150 एमएम से अधिक हुई बारिश

सामान्यतौर पर सितंबर में आगरा में 100 से 150 एमएम वर्षा होती है लेकिन इस साल 150 एमएम से अधिक वर्षा हुई है। इसी के चलते गर्मी और उमस का प्रभाव कम है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार सितंबर तक आगरा में 529.2 एमएम वर्षा हुई है। यह सामान्य से एक प्रतिशत अधिक है। आगरा में 31 अगस्त तक 399.9 एमएम वर्षा हुई थी, जो सामान्य से आठ प्रतिशत कम थी।

ये भी पढ़ें...  Banke Bihari Mandir: बुजुर्ग-बीमार और बच्चों को मंदिर न लाने की सलाह, आज शाम से वाहनों की नो एंट्री

आगरा और अलीगढ़ मंडल में आगरा, फिरोजाबाद और एटा में ही सामान्य से ही अधिक वर्षा हुई है। मथुरा, मैनपुरी, अलीगढ़, कासगंज और हाथरस में सामान्य से कम वर्षा हुई है। अक्टूबर में भी बारिश का दौर बना हुआ है। 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट