आगरा, जागरण संवाददाता। शहर के पुराने बसे इलाकों में रह रहे लोगों के लिए अच्‍छी खबर है। डेढ़ माह के भीतर पुराने शहर को गंगाजल मिलना शुरू हो जाएगा। जीवनी मंडी वाटरवर्क्‍स से गंगाजल चालीस मीटर दूर है। बारिश के चलते तीन सप्ताह तक काम ठप रहा।

आगरा शहर की प्यास बुझाने के लिए पालड़ा फाल, बुलंदशहर से आगरा तक 130 किमी लंबी पाइप लाइन बिछाई गई है। कैलाश मंदिर के पास से एक लाइन सिकंदरा वाटर वर्क्‍स तक बिछ चुकी है। दूसरी लाइन जीवनी मंडी वाटर वर्क्‍स तक बिछाई जा रही है। नेशनल हाईवे-19 के नीचे 160 मीटर लाइन बिछाने के लिए ट्रेंचलेस तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है। अब तक 120 मीटर की लाइन बिछ चुकी है। जल निगम हर दिन आधा से एक मीटर पाइप डाल रहा है। जल निगम, गंगाजल प्रोजेक्ट के एक अधिकारी ने बताया कि लाइन बिछने से जीवनी मंडी वाटर वर्क्‍स को हर दिन दो सौ एमएलडी गंगाजल मिलेगा, जबकि 25 एमएलडी यमुना जल की आपूर्ति की जाएगी।

20 दिनों तक लाइन का होगा ट्रायल

जीवनी मंडी वाटर वर्क्‍स से पाइप लाइन जुडऩे के बाद लाइन का ट्रायल होगा। यह बीस दिनों तक चलेगा। फिर पुराने शहर में जलापूर्ति शुरू होगी।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप