आगरा, जागरण संवाददाता। सोनभद्र में जमीनी विवाद में हुई हत्याओं के बाद पुलिस अब जमीन के विवादों को गंभीरता से ले रही है। आइजी ए सतीश गणेश ने तहसील दिवस में आने वाली शिकायतों के निस्तारण का रियलिटी चेक की। इसमें चार शिकायतों में से केवल फीरोजाबाद का ही एक शिकायतकर्ता संतुष्ट मिला। 

आइजी ए सतीश गणेश ने सबसे पहले फीरोजाबाद नारखी में नगला अमान निवासी रामनिवास का प्रार्थना पत्र ऑनलाइन निकाला। चार दिसंबर 2018 को शिकायत की गई थी कि विपक्षियों ने उनके खेत की मेड़ काट ली है। विरोध करने पर वे धमकी देते हैं। आइजी ने अपने मोबाइल से रामनिवास को फोन करके पूछा कि उनकी शिकायत का निस्तारण हुआ या नहीं? जवाब हां में मिला। आइजी ने दूसरी कॉल मथुरा के छाता में नौगांव निवासी सत्यवीर को की। उसने 11 जुलाई 2019 को दबंगों की शिकायत की थी। उसने आइजी को बताया कि 10 साल पहले आवंटित हुए प्लाट पर उसका मकान बना है। अब दबंग उसे दूसरी जगह मकान बनाने की कहकर बेघर करना चाह रहे हैं। आइजी ने सीओ छाता को फोन कर समस्या का निस्तारण करने को भेजा। खंदौली के पुरा लोदी निवासी मायाराम ने खेत में खड़ी चरी को जोतने की शिकायत की। उसने बताया कि आठ बीघा खेत उसने एक इंजीनियर से किराए पर लिया था। अब उन्होंने दूसरे व्यक्ति को खेत किराए पर दे दिया है। उन्होंने चार बीघा चरी जुतवा दी। इससे उसका तीस हजार का नुकसान हुआ है। आइजी ने सीओ एत्मादपुर को उसके घर जाकर समस्या का निस्तारण कराने को भेज दिया। मैनपुरी के करहल में लाखनमऊ निवासी राघवेंद्र ने तहसील दिवस में रास्ते से कब्जा हटवाने को प्रार्थना पत्र दिया था। इसका भी निस्तारण नहीं हुआ था। आइजी ने संबंधित सीओ को समस्या निस्तारण को भेजा है।  

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप