आगरा, जागरण संवाददाता : ताजगंज की रहने वाली वृद्धा से उपचार के नाम पर 33 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में रिश्तेदार समेत छह लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी लिखी गई है। आरोप है कि देखभाल करने वाले रिश्तेदार ने रकम अपनी पत्नी के खाते में स्थानांतरित करा ली।

ताजगंज निवासी मनीष शुक्ला ने पुलिस को बताया कि उनकी 78 वर्षीय दादी शांति देवी बीमार रहती हैं। दादी के रिश्तेदार गोविंद प्रसाद उन्हें डाक्टर को दिखाने ले जाते थे। उन्होंने उपचार के नाम पर 33 लाख रुपये निकाले। आरोपित ने 16 लाख रुपये अपनी पत्नी नेहा के खाते में स्थानांतरित करा लिए। पिछले वर्ष सितंबर में बाबा का निधन होने के बाद उनके खातों की जानकारी की। तब उन्हे धोखाधड़ी का पता चला। पुलिस आयुक्त से शिकायत पर उन्होंने आरोपित के विरूद्ध प्राथमिकी लिखने के आदेश किए थे।

स्वस्थ हुए लोग, जताई घर जाने की इच्छा

जासं, आगरा : जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं अपर जिला जज ज्ञानेंद्र त्रिपाठी ने बुधवार को मानसिक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा संस्थान का निरीक्षण किया। इस दौरान स्वस्थ हो चुके कई लोगों ने घर जाने की इच्छा जताई। न्यायिक अधिकारी ने संस्थान को स्वस्थ लोगों की घर वापसी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने महिला एवं पुरुष वार्ड, परिवार वार्ड और रसोई का निरीक्षण किया। इस दौरान संस्थान के अधीक्षक दिनेश कुमार राठौर उपस्थित रहे।

बाल विवाह रुकवाया

जासं, आगरा : चाइल्ड लाइन ने पुलिस की मदद से बाल विवाह को रुकवाया। चाइल्ड लाइन लोहामंडी निवासी किशोरी की 11 दिसंबर को बरात आने की जानकारी मिली। जिस पर वह पुलिस को साथ लेकर उसके घर पहुंची। चाइल्ड लाइन के समन्वयक धीरज ने बताया कि किशोरी के माता-पिता ने उसका विवाह सिकंदरा निवासी युवक से तय कर दिया था। किशोरी को बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया गया। वहां काउंसिलिंग के बाद वह शादी न करने को तैयार हो गए।

Edited By: Mohammed Ammar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट