आगरा, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने उत्कृष्टता की एक और मिसाल पेश की है। आगरा मेट्रो निर्माण परियोजना के तहत बन रहे प्रायोरिटी कॉरिडोर के ऐलीवेटिड भाग में यूपी मेट्रो ने 5 माह से भी कम समय में पाइलिंग का आधा काम पूरा कर लिया है। बता दें कि ऐलिवेटिड भाग में कुल 688 पाइल बनाई जानी है, जिसमें कि 344 पाइलों का काम पूरा कर लिया गया है। इसके साथ ही 33 पाइल कैप व 10 पीयर (पिलर) का काम भी पूरा कर लिया गया है।

इसके साथ ही पीएसी स्थित मेट्रो डिपो का निर्माण भी तेजी से किया जा रहा है। यूपी मेट्रो द्वारा डिपो परिसर की लगभग 2600 मीटर लंबी कम्पाउंड बाउंड्री वॉल का निर्माण किया जा रहा है, फिलहाल, लगभग 680 मीटर लंबी वॉल का निर्माण पूरा हो चुका है। प्रीकास्ट तकनीक से बनने वाली इस कम्पाउंड बाउंड्री वॉल के 50% ब्लॉक्स की कास्टिंग भी पूरी हो चुकी है। इसके साथ ही डिपो परिसर में अन्य संरचनाओं का निर्माण भी तेजी से किया जा रहा है।

ताज ईस्ट गेट से जामा मस्जिद के बीच 6 कि.मी. लंबे प्रायोरिटी सेक्शन में कुल 6 स्टेशनों का निर्माण किया जाना है। इन 6 स्टेशनों में 3 ऐलीवेटिड व 3 भूमिगत स्टेशन हैं। मौजूदा समय में 3 कि.मी. लंबे ऐलीवेटिड सेक्शन में तेजी से काम हो रहा है। बता दें कि ऐलीवेटिड भाग में 688 पाइल, 171 पाइल कैप व 171 पीयर (पिलर) का निर्माण किया जाना है।

ताजनगरी में लगभग 30 किमी लंबे दो कॉरिडोर का मेट्रो नेटवर्क बनना है, जिसमें 27 स्टेशन होंगे। ताज ईस्ट गेट से सिकंदरा के बीच 14 किमी लंबे पहले कॉरिडोर का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। इस कॉरिडोर में 13 स्टेशनों का निर्माण होगा। जिसमें 6 एलीवेटेड जबकि 7 भूमिगत स्टेशन होंगे। इसके साथ ही आगरा कैंट से कालिंदी विहार के बीच लगभग 16 कि.मी. लंबे दूसरे कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा, जिसमें 14 ऐलीवेटेड स्टेशन होंगे।