आगरा, जागरण संवाददाता। भतीजे को जेल भिजवाने के लिए रचे चक्रव्यूह में चाचा खुद फंस गया। पुलिस ने जांच की तो दांव उल्टा पड़ गया। जिस तमंचे को भतीजे से बरामद किया बता रहा था, उसी तमंचे समेत खुद को जेल जाना पड़ गया।

तमंचा रखने की दी थी सूचना

मामला शाहगंज थाना क्षेत्र का है। सराय ख्वाजा निवासी मिस्टर कुरैशी उर्फ पप्पू ने मंगलवार की रात को पुलिस को सूचना दी। बतायाकि कागारौल निवासी मुजम्मिल उसके घर पर तमंचा लेकर आया था। उसे दबोच लिया है। पुलिस मौके पर पहुंच गई। पप्पू कुरैशी ने पुलिस को एक तमंचा और कारतूस दिखाया, कहा कि यह मुजम्मिल से बरामद किया है। प्रभारी निरीक्षक शाहगंज जसवीर सिंह सिरोही ने बताया कि मुजम्मिल से पूछताछ की। उसने बताया कि मां का पिता शाकिर से न्यायालय में मामला चल रहा है। मां उसे लेकर मायके में रहती है। पिता सराय ख्वाजा में रहते हैं। न्यायालय के आदेश के बाद पिता पर 3.78 लाख रुपये का हर्जा खर्चा बकाया है। जो न देने पर पिता के विरूद्ध कुर्की निकाली है। वह शाहगंज थाने पर पुलिस को इसकी जानकारी देने आया था। पिता घर पर नहीं मिलता है, इसीलिए वह उसे देखने घर गया था।वहां पर चाचा पप्पू कुरैशी ने उसे पकड़ लिया।

ये भी पढ़ें...

रोमांच के शौकीनों के लिए उत्‍तराखंड में नया ठिकाना, 15 दिसंबर से होगी शुरुआत, यहां लें पूरी जानकारी

सीसीटीवी चैक करने पर खुला मामला

प्रभारी निरीक्षक जसवीर सिंह सिरोही ने बताया कि पुलिस पप्पू कुरैशी के घर पर लगा सीसीटीवी कैमरा चेक किया।जिसमें मुजम्मिल कुद ले जाता नहीं दिखा। मगर, मिस्टर कुरैशी उर्फ पप्पू अपनी बांह में कुछ छिपाकर ले जाता दिखाई दिया। जिस पर उससे पूछताछ की सच सामने आ गया।

आरोपित पप्पू ने बताया कि वह भाई-भाभी में चल रहे वाद से परेशान है। पुलिस और भतीजा मुजम्मिल अाए दिन घर पर चक्कर लगाते रहते हैं। जिसके चलते उसे सबक सिखाने के लिए तमंचे का चक्रव्यूह रचा था। प्रभारी निरीक्षक जसवीर सिंह सिरोही ने बताया है कि आरोपित के विरूद्ध अभियोग दर्ज कर उसे जेल भेजा गया है। 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट