जागरण टीम, आगरा। लंबी जद्दोजहद के बाद चंबल नदी के पिनाहट घाट पर बनाए गए पैंटून पुल की राह में वन विभाग ने रोड़ा अटका दिया है। पुल से आवागमन शुरू होने के बाद वन विभाग ने इसकी अनुमति नहीं लेने की बात कही है। रेंजर का कहना है कि अनुमति पत्र मिलने के बाद ही पैंटून पुल पर चारपहिया वाहनों के आवागमन की अनुमति दी जाएगी। पैदल व दो पहिया वाहनों का संचालन यथावत रहेगा।

बारिश के दिनों में पैंटून पुल को हटा दिया जाता है। शासनादेश के मुताबिक 15 से 30 अक्टूबर के बीच पुल पर आवागमन शुरू हो जाना चाहिए। हालांकि इस बार पीडब्ल्यूडी ने ऐसा नहीं किया। कहा कि नदी का पानी कम होने पर पैंटून पुल शुरू कराया जाएगा। हाल ही में पुल बनाया गया। इस पर पैदल व दोपहिया वाहनों का आवागमन शुरू हो गया। अब वन विभाग ने अनुमति पत्र का रोड़ा अटकाकर चारपहिया वाहन चालकों की परेशानी बढ़ा दी है। वन विभाग से अनुमति लेने के लिए पत्र पहले ही भेजा जा चुका है लेकिन अभी अनुमति नहीं मिली है। बिना अनुमति वनकर्मी पुल से वाहनों का संचालन नहीं होने देते। इसलिए पुल पर चारपहिया वाहनों का आवागमन शुरू नहीं हुआ है। जल्द ही अनुमति मिल जाएगी।

बीके पांडेय, एई, पीडब्ल्यूडी हर वर्ष पैंटून पुल के निर्माण के समय ही पीडब्ल्यूडी को अनुमति लेने की याद आती है। यह कार्रवाई पहले से नहीं की जाती, जबकि अनुमति लखनऊ स्थित कार्यालय से मिलती है। अनुमति पत्र लखनऊ पहुंच चुका है। आदेश मिलते ही पुल पर संचालन शुरू करा दिया जाएगा।

आरके सिंह राठौर, रेंजर बाह, वन विभाग

Edited By: Jagran