आगरा, जेएनएन। दहेज की मांग पूरी न होने पर टार्चर की कहानी सुनकर पुलिस वाले भी हैरान रह गए। आगरा में किराए पर रहने वाला पेंटर पत्नी को चार दिनों से धूप का टार्चर दे रहा था। हाथ पैर बांधकर छत पर धूप में डाल देता था और शाम को आकर फिर से पिटाई कर कमरे में बांध देता था। ससुराली उसे मुक्त करवाकर लाए और थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। 

फीरोजाबाद के नारखी के गांव नगला सिकंदर निवासी सरमन सिंह से अपनी बेटी पूजा की शादी सात साल पहले टूंडला क्षेत्र के गांव नगला सोना निवासी रवि पुत्र समर सिंह के साथ की थी। शादी के कुछ दिन बाद वह पूजा को लेकर नगला बूढ़ी थाना न्यू आगरा में किराए के मकान में रहकर पेंटर का काम करने लगा। ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज में एक मोटरसाइकिल व पचास हजार रुपये लाने को दबाव बनाते थे। पिता की मजबूरी को देखते हुए रुपये लाने से इन्कार कर दिया तो उसके साथ मारपीट की जाने लगी। एक वर्ष पूर्व उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिसके बाद वह करीब एक साल तक पिता के साथ रही। पति जनवरी में उसे राजीनामा कर आगरा ले गया। 

ससुरालीजन दिन में उसे बांधकर धूप में डाल देते थे और रात को उसे चारपाई से बांधकर रखा जाता था। पूजा ने किसी तरह शुक्रवार सुबह इसकी सूचना परिजनों को दी। परिजन उसे मुक्त कराकर अपने साथ ले आए। पीडि़ता ने पति रवि, सास शारदा, देवर प्रदीप और करन के खिलाफ थाने में तहरीर दी है।  इंस्पेक्टर ज्ञानेन्द्र कुमार का कहना है कि घटना स्थल आगरा का है। पीडि़ता का मुकदमा दर्ज कर विवेचना आगरा ट्रांसफर की जा रही है। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस