आगरा, जागरण संवाददाता। प्रदेश के 100 शिक्षकों को पीएम ई-विद्या डीटीएच टीवी चैनल पर प्रसारित होने वाले वीडियो लेक्चर के लिए चुना गया है। इनमें से तीन आगरा के हैं। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् (एससीईआरटी) वीडियो लेक्चर तैयार कराने से पहले उन्हें प्रशिक्षण दे रहा है।

ये भी पढ़ेंः मेट्राे का काम शुरू होने जा रहा आगरा−दिल्ली हाईवे पर, ट्रैफिक जाम में फंसने काे रहिए अब तैयार

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्य डा. आइपीएस सोलंकी ने बताया कि इसके लिए लखनऊ के उद्यमिता विकास संस्थान में डायरेक्ट टू होम (डीटीएच) चैनलों द्वारा शिक्षण सामग्री तैयार करने के लिए विषय विशेषज्ञों का उन्मुखीकरण व प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू हो चुका है। 30 नवंबर तक चलने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिले के तीन शिक्षकों का चयन हुआ है।

इसमें डायट प्रवक्ता रसायन विज्ञान डा. मनोज कुमार वार्ष्णेय के साथ शमसाबाद के उच्च प्राथमिक विद्यालय नगला सूरजभान कंपोजिट के सहायक शिक्षक विकास शर्मा और खेरागढ़ के पूर्व माध्यमिक विद्यालय कागारौल प्रथम के सहायक शिक्षक सत्यपाल सिंह शामिल हैं। प्रशिक्षण सुबह 9.30 से शाम 5.30 बजे तक चलेगा।

यह है उद्देश्य

कोविड-19 के कारण विद्यालय करीब दो वर्षों तक बंद रहे, जिस कारण ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों और अनुसूचित जातियों व अनुसूचित जनजातियों व अन्य कमजोर वर्ग के बच्चों की शिक्षा प्रभावित हुई। खासकर सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों की शिक्षा में अवरोध आए, जिसे देखते हुए बच्चों को पूरक शिक्षा प्रदान करने और शिक्षा की पहुंच का एक लचीला तंत्र तैयार करने के लिए पीएम ई-विद्या वन क्लास वन चैनल कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसमें चैनल की संख्या 12 से बढ़ाकर 200 तक कर दी गई है। सभी राज्य व संघ शासित प्रदेशों में कक्षा एक से 12वीं तक के लिए प्रदेश की भाषाओं में पूरक शिक्षा प्रदान की जाएगी।

यह है योजना

उक्त चैनलों पर कक्षा एक से 12वीं तक के पाठ्यक्रम पर आधारित उत्कृष्ट गुणवत्ता की शिक्षण सामग्री का प्रसारण 24 घंटे सातों दिन डीचीएच चैनलों पर किया जाएगा। साथ ही साप्ताहिक रूप से विद्यार्थियों, शिक्षकों व अभिभावकों के लिए लाइव प्रसारण कार्यक्रम भी संचालित किए जाएंगे, जिससे उनकी समस्याओं का समाधान विशेषज्ञों द्वारा किया जा सके।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट