आगरा, जेएनएन। प्रदेश विस उपचुनाव में मिली शिकस्त के बाद बसपा हाईकमान की गाज गिरना जारी है। आगरा के बाद फीरोजाबाद जिलाध्यक्ष ब्रजेश वरुण समेत तीन को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

वरुण को लोकसभा चुनाव से पहले ही जिलाध्यक्ष बनाया गया था। उनके साथ बाहर किए गए दो नेता पार्टी के पुराने वफादार हैं। जिला महामंत्री रहे मुकेश कुमार टीटू को नया जिलाध्यक्ष बनाया गया है।

पांच विस सीटों वाले जिले में फीरोजाबाद और टूंडला में तो बसपा बेहतर प्रदर्शन करती रही लेकिन अन्य क्षेत्रों में हमेशा तीसरे नंबर की रही। पिछले विस चुनाव में सपा को जिले में एक सीट मिली तो बसपा खाता भी नहीं खोल सकी। टूंडला सीट लगातार दो बार जीतने वाली पार्टी को करारी हार ङोलना पड़ी थी। सपा से गठबंधन टूटने के बाद टूंडला उपचुनाव के लिए बसपा ने आगरा के सुनील चित्तौड़ को प्रत्याशी बनाया। रविवार को उन्हें भी पार्टी से बाहर कर दिया गया।

सोमवार को जिला इंचार्ज अनिल कुमार भाटिया ने प्रेस नोट जारी करते हुए जिलाध्यक्ष ब्रजेश वरुण, पूर्व जिला जोन इंचार्ज रहे ज्ञान सिंह और मुरारी सिंह पेशकार को अनुशासनहीनता एवं पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निष्कासित किए जाने की जानकारी दी।

भाटिया ने बताया कि हाईकमान के आदेश पर मुकेश कुमार टीटू को जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। निष्कासित जिलाध्यक्ष ब्रजेश वरुण का कहना है कि उन्हें निष्कासन के वजह की जानकारी नहीं है। बहनजी का जो आदेश होगा, वह माना जाएगा। बसपा में बड़े स्‍तर पर हुए इस फेरबदल से खलबली मची हुई है। हर पदाधिकारी इस संशय में है कई कल उसका क्‍या होगा।

एक साल में चौथे जिलाध्यक्ष

पिछले साल से बसपा में जिलाध्यक्ष के पद पर नेता टिक नहीं पा रहा है। पिछले साल दिसंबर में सालिग सिंह के स्थान पर वीरी सिंह प्रधान को जिले की कमान सौंपी गई, मगर ये ज्यादा दिन नहीं चले। लोकसभा चुनाव से पहले ब्रजेश वरुण को जिलाध्यक्ष बनाया गया। अब चौथे जिलाध्यक्ष मुकेश बनाए गए हैं।

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस