आगरा, जागरण संवाददाता। बारिश के चलते शनिवार को शहर की सफाई व्यवस्था लड़खड़ा गई। कहीं कूड़े का उठान नहीं हुआ तो कहीं झाड़ू नहीं लगी। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। नगर निगम कार्यालय में 250 शिकायतें पहुंचीं। अफसरों के आदेश पर कई जगहों पर मशीनों से सफाई की गई।

नगर निगम के सौ वार्डों से हर दिन 800 टन कूड़ा निकलता है। 400 टन सूखा कूड़ा, 350 टन गीला कूड़ा और 50 टन सिल्ट शामिल है। शनिवार को रामबाग रोड, नगला रामबल, कालिदी विहार, पटेल नगर, टेढ़ी बगिया, ट्रांस यमुना कालोनी, नुनिहाई, सीता नगर, लोहामंडी, आवास विकास कालोनी सेक्टर 13 से 16, शास्त्रीपुरम रोड, सिकंदरा, केके नगर, जीवनी मंडी रोड, राम नगर, हसनपुरा, मारुति एस्टेट, बिचपुरी रोड, गोबर चौकी रोड, मनोहरपुर, मैत्रीय बाग रोड, बोदला रोड प्रमुख रूप से शामिल है। शनिवार को कूड़ा उठान के लिए कोई नहीं आया। इसकी शिकायत नगर निगम के अफसरों से की जा चुकी है।

राजेश कुमार, बोदला निवासी

क्षेत्र में न तो ठीक से झाड़ू लगी है और न ही कूड़े का उठान हुआ है। शिकायत के बाद भी कोई टीम नहीं पहुंची।

शिव मूरत बघेल, ट्रांस यमुना कालोनी

क्षेत्र में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन ठीक से नहीं हुआ है। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है।

राहुल कुमार, आवास विकास कालोनी सेक्टर 16

सिल्ट का नहीं हो रहा उठान : नगर निगम की टीम ने दो दिन पूर्व हलवाई की बगीची से मानसिक स्वास्थ्य संस्थान रोड तक नाले की सफाई हुई थी। सिल्ट को रोड के किनारे फेंक दिया गया। इसका उठान अभी तक नहीं हुआ है। रफ्तार नहीं पकड़ रहा डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन : हरीपर्वत जोन के 11 वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन हो रहा है। यह कार्य स्वच्छता कारपोरेशन की टीम कर रही है। कूड़ा कलेक्शन रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। निजी सफाई कर्मचारियों द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है। खोद कर छोड़ दी रोड, हजारों लोग हुए परेशान

आगरा, जागरण संवाददाता। जल निगम के इंजीनियरों की लापरवाही हजारों लोगों पर भारी पड़ रही है। भावना एस्टेट रोड, सिकंदरा, शाहगंज, लोहामंडी क्षेत्र में पानी और सीवर लाइन की खोदाई के बाद उसे छोड़ दिया गया। बारिश से मिट्टी गिली हो गई। इससे वाहन चालकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

भावना एस्टेट रोड निवासी विक्रम सिंह ने बताया कि पानी की पाइप लाइन बिछाई जा रही है। लाइन बिछाने के दौरान बेरीकेडिग नहीं की गई है। कई जगहों पर मिट्टी बैठ गई है। शाहगंज निवासी सोनू मिश्रा ने बताया कि चार माह पूर्व सीवर लाइन बिछाने का कार्य शुरू हुआ था। यह कार्य अभी तक पूरा नहीं हुआ है। लाइन बिछाने के दौरान संरक्षा के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।

Edited By: Jagran