आगरा, जागरण संवाददाता। कोराेना वायरस के संक्रमण काल में ताजमहल पर टिकट विंडो 36 दिन ही खुल सकी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) के आगरा सर्किल स्थित स्मारकों पर सोमवार से टिकट विंडो बंद कर दी गईं। अब पर्यटक आनलाइन टिकट बुक करने के बाद ही स्मारक निहार सकेंगे। एएसआइ की वेबसाइट के साथ ही स्मारकों पर लगाई गईं स्टैंडी से क्यूआर कोड स्कैन कर टिकट बुक की जा सकेंगी।कोरोना वायरस के संक्रमण काल में ताजमहल पर 27 नवंबर और अन्य स्मारकों पर एक दिसंबर को पर्यटकों की सुविधा के लिए टिकट विंडो खोली गई थीं। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने पर एएसआइ ने सोमवार से स्मारकों पर टिकट विंडो बंद कर दीं।

ताजमहल, आगरा किला, एत्माद्दौला, सिकंदरा, मेहताब बाग, रामबाग व मरियम टाम्ब पर सुबह से टिकट विंडो बंद रहीं। ताजमहल पर 36 दिन तो अन्य स्मारकों पर 32 दिन ही टिकट विंडो खुलीं। अधीक्षण पुरातत्वविद् राजकुमार पटेल ने बताया कि कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने पर एहतियात बरतते हुए टिकट विंडो बंद की गई हैं। स्मारकों पर क्यूआर कोड को स्कैन कर पर्यटक अानलाइन टिकट बुक कर सकते हैं। विभाग की वेबसाइट से भी आनलाइन टिकट बुक की जा सकती हैं।

इन्हें परेशानी

टिकट विंडो बंद होने से ऐसे पर्यटकों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा, जो इंटरनेट बैंकिंग से अनभिज्ञ हैं। ऐसे पर्यटक भी परेशान होंगे, जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं हैं।

फतेहपुर सीकरी में खुली टिकट विंडो

फतेहपुर सीकरी में नेटवर्क प्रोब्लम के चलते आनलाइन टिकट बुकिंग व टिकट स्कैनिंग में आ रही दिक्कत को देखते हुए टिकट विंडो खोली गई। सीकरी में 164 भारतीयों और चार विदेशी पर्यटकों समेत 168 टिकटें टिकट विंडो से बुक की गईं।

कब क्या हुआ

-वर्ष 2020 में 17 मार्च को कोरोना के संक्रमण के चलते स्मारक बंद हुए।

-188 दिनों की बंदी के बाद 21 सितंबर को ताजमहल खुला। केवल आनलाइन टिकट बुकिंग हुई।

-दो जनवरी, 2021 को ताजमहल पर पर्यटकों की सुविधा को टिकट विंडो खोली गई।

-16 अप्रैल, 2021 को कोरोना संक्रमण के चलते स्मारक बंद किए गए।

-16 जून, 2021 को 61 दिन की बंदी के बाद स्मारक खोले गए। आनलाइन टिकट बुकिंग हुई।

-वर्ष 2021 में 27 नवंबर को ताजमहल और एक दिसंबर को अन्य स्मारकों पर टिकट विंडो खोली गईं।

-3 जनवरी, 2022 को स्मारकों पर टिकट विंडो बंद कर दी गईं।

Edited By: Prateek Gupta