आगरा, जागरण टीम। सांपों से जुड़ी एक से बढ़कर एक कहानियां सुनीं और पढ़ी होंगी। कुछ लोग इन कहानियों पर यकीन करते हैं, तो कुछ अंधविश्‍वास और मनगढ़ंत बताते हैं। किस्‍से-कहानियों से अलग कुछ घटनाएं ऐसी होती हैं, जो सोचने पर मजबूर कर देती हैं। ऐसी ही एक घटना कस्बा सुरीर में सामने आई है। ईंट भट्ठों पर मजदूरी करने वाले युवक को छह माह में एक सांप सात बार काट चुका है, लेकिन हर बार उसकी जान बच गई है।

सबसे ज्‍यादा हैरानी की बात तो यह है कि उसे सात बार अलग-अलग सांप ने नहीं बल्कि एक ही सांप ने काटा है। कस्बा सुरीर में रामस्वरूप सिंह का 25 वर्षीय बेटा महेश भट्ठों पर ईंटों की निकासी का काम करता है। करीब छह माह पहले महेश को पहली बार बॉबी भट्ठा पर सांप ने काटा था। उसके करीब एक माह बाद गिर्राजजी महाराज भट्ठा पर काम करते समय सांप ने काट लिया था।

राजू भट्ठा पर काम करते समय सांप ने अलग-अलग दिन में चार बार काट लिया था। अब सातवीं बार मंगलवार को घर पर नहाते समय सांप ने महेश के पैर में काट लिया। हालांकि हर बार समय रहते इलाज के चलते महेश की जान बच गई। पीड़ित महेश ने बताया कि वह समझ नहीं पा रहा है कि एक ही सांप उसे बार-बार क्यों काट रहा है। उसने बताया कि कभी हाथ की अंगुली तो कभी पैर में काटने के बाद सांप गायब हो जाता है।

महेश का कहना है कि वह डर के मारे अब चैन से सो भी नहीं पा रहा हैं। उसे हर वक्त सांप के काटने का भय बना रहता है। कई बार तो सांप उसके पैरों से लिपट चुका है। उधर अब नौबत यहां तक आ गई है कि बार-बार सांप के काटने का पता लगाने को पीड़ित युवक के स्वजन झाड़-फूंक व बायगीरों का सहारा ले रहे हैं। कस्बे में युवक को सांप के बार बार काटने की घटना को लेकर ग्रामीणों में तरह तरह की चर्चाएं चल रही हैं।  

Edited By: Prateek Gupta