आगरा, जागरण संवाददाता। एत्माद्दौला क्षेत्र के प्रकाश नगर में शुक्रवार सुबह पुराने मकान की छत ढह गई। बुजुर्ग और एक महिला मलबे के नीचे दब गईं। स्वजन ने उन्हें बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। दोनों के मलबे में दबने से चोट लगी हैं।

प्रकाश नगर निवासी अमृतलाल पुराने मकान के बराबर में ही नया मकान बनवा रहे हैं। उनके बेटे कांता प्रसाद ने बताया कि निर्माणाधीन मकान के दो पिलर तैयार हो गए हैं। शुक्रवार सुबह नौ बजे तीसरे पिलर के लिए खोदाई की जा रही थी। साथ ही एक पिलर में गिट्टी डालने का काम हो रहा था। तभी अचानक पुराने मकान की छत ढह गई। उसके नीचे कांता प्रसाद की पत्नी रेनू और पिता अमृतलाल बैठे थे। दोनों मलबे के नीचे दब गए। मकान की छत ढहने के बाद चीख पुकार मच गई। आसपास के लोग पहुंच गए। उन्होंने किसी तरह फावड़ों और हाथों से मलबे से देानों को बाहर निकाला। अम़ृतलाल के सिर, पैर और हाथों में चोट लगी है। वहीं रेनू के भी सिर और पैरों में चोट है। दोनों को स्थानीय लोगों ने अस्पताल पहुंचाया। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद स्वजन उन्हें घर ले आए। गनीमत रही कि मलबे में दबने के बाद बुजुर्ग और महिला को तत्काल निकाल लिया गया। इससे उनकी जान बच गई। हादसे के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची। अन्य किसी के दबे होने की आशंका पर मलबे को हटाकर देखा गया।

 

Edited By: Prateek Gupta