आगरा, जागरण संवाददाता। डाक्टर के घर डकैती डालने वाला 25 हजार रुपये का इनामी आमिर पुलिस से बचने के लिए फुटपाथों पर सो रहा था। घटना में उसका नाम सामने आने के बाद रिश्तेदारों और दोस्तों ने उसे शरण देने से इंकार कर दिया था। इनामी आमिर को उसके साथी समेत पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

जगदीशपुरा की आवास विकास कालोनी के सेक्टर दो में डाक्टर जसवंत राय के घर 18 सितंबर को डकैती पड़ी थी। डाक्टर दंपती को बंधक बनाकर बदमाश 7.80 लाख रुपये और कुछ जेवरात लूट ले गए थे। डकैती का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 21 सितंबर को गिरोह के सरगना कारपेंटर मुर्शरफ उसके साथियों रमजान, सागर, आहद व राशिद को जेल भेज दिया था। पांचों से 4.52 लाख रुपये बरामद किए थे। दो दिन पहले पुलिस ने तीन अन्य आरोपितों को भी जेल भेजा। उनसे 22 हजार 500 रुपये बरामद किए। फरार आमिर और रेहान पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।

एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि आरोपित आमिर निवासी नगला मेवाती ताजगंज और कमालउद्दीन निवासी मंटोला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कमालउद्दीन के पास आमिर ने डकैती की रकम रखी थी। दोनों से एक लाख 40 हजार रुपये बरामद किए हैं।  आमिर ने पूछताछ में बताया कि वह एक कार गैराज में काम करता था। डकैती में प्रयुक्त कार का इंतजाम उसी ने किया था। मुर्शरफ की गिरफ्तारी के बाद उसका नाम सामने आने के बाद रिश्तेदारों और परिचितों ने उससे पल्ला झाड़ लिया था। कोई उसे शरण देने को तैयार नहीं था।

जिसके चलते वह पुलिस को चकमा देने के लिए फुटपाथों पर रह रहा था। रात में वह फुटपाथ व किसी मार्केट और दुकान के सामने सोता था। उसे डर था कि किसी रिश्तेदार से संपर्क करने पर पुलिस उस तक पहुंच जाएगी। एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया डकैती में वांछित रेहान की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Edited By: Prateek Gupta