आगरा, जागरण संवाददाता। चक्रवाती हवाओं ने बुधवार को कड़ाके की सर्दी का अहसास कराया। दिन भर कोहरे की चादर छाई रही। सतह से बेहद कम ऊंचाई तक बादलों के रहने के कारण कोहरा छाया रहा और तापमान सामान्य से नौ डिग्री तक नीचे चला गया। दिन और रात के तापमान के बीच काफी कम अंतर रहा। बुधवार को अधिकतम तापमान जहां 14.2 डिग्री दर्ज किया गया, वहीं न्यूनतम 7.1 डिग्री सेल्सियस रहा। यह भी सामान्य से एक डिग्री कम था।

सुबह की शुरुआत घने कोहरे के साथ हुई। दृश्यता शून्य रही। आठ बजे के बाद बादल छंटने लगे, लेकिन 12 बजे तक धुंध छाई रही। दोपहर डेढ़ बजे के बाद धूप निकली लेकिन सर्दी से राहत नहीं मिल सकी। शाम चार बजे के बाद धुंध छाने के साथ शीत लहर चलने लगी।

गलन भर सर्दी की वजह चक्रवाती ठंडी हवाएं

दयालबाग शिक्षण संस्थान के पर्यावरण वैज्ञानिक डॉ. रंजीत कुमार ने बताया कि पहाड़ों पर हुई बर्फबारी से उत्तर पश्चिम की ओर ठंडी हवा चल रही है। आगरा में अधिकतम आद्र्रता 95 से 100 फीसद के बीच दर्ज की जा रही है। वहीं, निचली सतह पर तापमान कम है, जिससे चक्रवाती हवाएं गलन पैदा कर रही हैं। दोपहर में धूप निकलने के बाद भी गलन भरी सर्दी पड़ रही है।

घरों में हुए कैद, चाय और कॉफी की चुस्की

सुबह से घना कोहरा छाने और गलन भरी सर्दी में लोग घरों में कैद रहे, 12 बजे तक लोग घर से बाहर निकलने का मन नहीं बना सके। चाय और कॉफी की चुस्की के साथ मोबाइल और टीवी पर चिपके रहे। दफ्तरों में लोग हीटर जलाकर बैठे रहे, आम दिनों की तुलना में कार्यालयों में लोगों की संख्या भी कम रही। दोपहर में धूप निकलने पर घरों की छतों में बैठ गए, कार्यालय के बाहर लोग धूप में खड़े रहे।

हीटर चलाएं तो बाल्टी में भरकर रख लें पानी

कमरे में हीटर चलाने पर बाल्टी में पानी भरकर रख लें, जिससे कमरे में आद्र्रता कम ना हो। आद्र्रता कम होने पर बेचैनी होने लगती है। वहीं, हीटर और वार्मर ऐसे इस्तेमाल करें, जिससे कमरे में ऑक्सीजन की कमी ना हो। कमरा बंद करके सामान्य हीटर का इस्तेमाल करने से ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। इससे सांस संबंधी बीमारी से पीडि़त मरीजों को परेशानी हो सकती है।

सांस रोगियों के लिए फाइबर की रजाई है बेहतर

रुई भरी रजाई में अति सूक्ष्म कण पर्टिकुलेट मैटर पीएम 2.5 अधिक होते हैं। इससे सांस संबंधी बीमारी से पीडि़त मरीजों को खांसी के साथ सांस उखडऩे की समस्या आती है। ऐसे में फाइबर की रजाई अच्छा विकल्प हैं। इससे सूक्ष्म कण की मात्रा बहुत कम होती है।

सांस संबंधी बीमारी से पीडि़त मरीज अलाव जलाकर ना बैठे, यह घातक हो सकता है। ऐसे वार्मर का इस्तेमाल करें, जिससे कमरे में ऑक्सीजन की कमी ना हो सके। कमरे में पानी भरकर रख सकते हैं, बीच बीच में कमरे का गेट खोल दें।

-डॉ. गजेंद्र विक्रम सिंह, चेस्ट स्पेशलिस्ट एसएन मेडिकल कॉलेज

सर्दी में घुटनों के दर्द की समस्या बढ़ जाती है, कमरे में हीटर और वार्मर लगा सकते हैं। गर्म कपड़े पहनें और सिंकाई करते रहें। इससे दर्द में राहत मिल सकती है।

-डॉ. सीपी पाल, विभागाध्यक्ष अस्थि रोग विभाग एसएन मेडिकल कॉलेज

बच्चों को सर्दी से बचाएं। सर्दी में बच्चों के नाक से स्राव होने लगता है, सांस लेने में परेशानी और गला खराब हो जाता है। इससे जुकाम और बुखार की समस्या बढ़ रही है। बच्चों को सर्दी से बचाए।

-डॉ. नीरज यादव, बाल रोग विशेषज्ञ एसएन मेडिकल कॉलेज

30 दिसंबर को बारिश के आसार, गिरेगा पारा

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि 26 दिसंबर को घना कोहरा छा सकता है, इससे तापमान में गिरावट आएगी। 29 दिसंबर तक कोहरा छाया रहेगा। 30 दिसंबर से घने बादल छाएंगे और बारिश हो सकती है। 31 दिसंबर को भी बारिश की आशंका है। इससे न्यूनतम तापमान चार डिग्री तक पहुंच सकता है।

पिछले साल की तुलना में अधिकतम तापमान में गिरावट

25 दिसंबर, 2018 को अधिकतम तापमान 20 डिग्री दर्ज किया गया था। वहीं, न्यूनतम तापमान 5 डिग्री था। पिछले साल की तुलना में न्यूनतम तापमान बढ़ा है, इस साल न्यूनतम तापमान 7.1 डिग्री दर्ज किया गया। मगर, अधिकतम तापमान में गिरावट आई है, इस साल अधिकतम तापमान 14.2 डिग्री दर्ज किया गया।

आगरा का तापमान 2019

25 दिसंबर

न्यूनतम - 7.1 डिग्री

अधिकतम - 14.2 डिग्री

24 दिसंबर

न्यूनतम - 8.4 डिग्री

अधिकतम - 14.9 डिग्री

23 दिसंबर

न्यूनतम - 8 डिग्री

अधिकतम - 18.1 डिग्री

22 दिसंबर

न्यूनतम - 8 डिग्री

अधिकतम - 19.7 डिग्री

21 दिसंबर

न्यूनतम - 7.9 डिग्री

अधिकतम - 18 डिग्री

20 दिसंबर

न्यूनतम - 6.5 डिग्री

अधिकतम - 17.7 डिग्री

19 दिसंबर

न्यूनतम - 5.5 डिग्री

अधिकतम - 16.8 डिग्री

2018 में आगरा का तापमान

25 दिसंबर

न्यूनतम - 5 डिग्री

अधिकतम - 20 डिग्री

24 दिसंबर

न्यूनतम - 5 डिग्री

अधिकतम - 21 डिग्री

23 दिसंबर

न्यूनतम - 4 डिग्री

अधिकतम - 21 डिग्री  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस