आगरा, जागरण संवाददाता। ग्रीन गैस लिमिटेड की पाइप्ड नेचुरल गैस(पीएनजी) लाइन डैमेज होने से शनिवार सुबह 15 हजार घरों की आपूर्ति बाधित हो गई थी। इससे सुबह की चाय, नाश्ता नहीं बन सका और लोगों को वैकल्पिक संसाधन तलाशने पड़े। इसके बाद समानांतर लाइन डाल आपूर्ति सुचारू कर दी गई। रात साढ़े नौ बजे लगभग एक बार फिर आपूर्ति बाधित हो गई, जिससे सैकड़ों घरों में रात का खाना नहीं बन सका। 

ग्रीन गैस लिमिटेड की पीएनजी लाइन शुक्रवार रात दो बजे डैमेज हो गई। खंदारी क्षेत्र में टोरंट का कार्य चल रहा था, जिससे लाइन कई स्थानों पर डैमेज हुई। तीन बजे ग्रीन गैस लिमिटेड के अधिकारियों को जानकारी हुई, तो तत्काल टीपी नगर से आपूर्ति बंद कर टीम को मरम्मत कार्य के लिए दौड़ा दिया गया। लाइन डैमेज होने से खंदारी, कमला नगर, विजय नगर, दयालबाग, बल्केश्वर सहित अन्य क्षेत्रों की आपूर्ति बाधित हो गई। सुबह लोग सोकर उठे तो सप्लाई बाधित थी। ऐसे में चाय, नाश्ता नहीं बन सका। लाइन बुरी तरह डैमेज होने के कारण समानांतर लाइन डालकर सुबह 10 बजे अापूर्ति को सुचारू कराया गया। लाइन वापस शिफ्ट होने के कारण रात साढ़े नौ बजे से फिर आपूर्ति बाधित हो गई। रात 11 बजे के बाद घरों में खान बना। कुछ लोगों ने वैकल्पिक संसाधन का प्रयोग कर रात का खाना बनाया।

सुबह चाय की हुई परेशानी, नाश्ता नहीं बना

बल्केश्वर निवासी अंजलि ने बताया कि सुबह चाय बनाने किचिन में पहुंची तो गैस आपूर्ति बाधित थी। इंडक्शन खराब होने से चाय और नाश्ता नहीं बन सका। कमला नगर निवासी राजेंद्र ने बताया कि सुबह की चाय नहीं मिल सकी, जबकि नाश्ते के लिए बाजार से कचौड़ी लेकर आनी पड़ी। सुबह 10 बजे पता चला कि आपूर्ति सुचारू हो गई है, लेकिन वाल्व के कारण दोपहर 12 बजे के बाद सप्लाई मिल सकी। खंदारी निवासी मुस्कान ने बताया कि सुबह की चाय नहीं मिल सकी। पति अजय प्राइवेट नौकरी करते हैं, उनके लिए नाश्ता भी तैयार नहीं हुआ। बच्चों को नमकीन, बिस्कुट खिलाकर काम चलाना पड़ा। दोपहर में आपूर्ति सुचारू हुई। दयालबाग निवासी राजीव कुमार ने बताया कि सुबह आफिस जाते पर नाश्ता नहीं मिला तो रात को खाने के समय फिर आपूर्ति बाधित हो गई।

टोरंट द्वारा बिना पूर्व में जानकारी दिए हुए कार्य कराया जा रहा था। रात के समय कार्य करने के लिए मना किया गया है, इसके बाद भी रात में काम हो रहा था। विभागीय कर्मचारी के टोकने पर भी कार्य नहीं रोका गया। इससे कनेक्शन धारकों को मुश्किल हुई। कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ तो विधिक कार्रवाई भी की जाएगी। रात 11 बजे आपूर्ति सुचारू कर दी गई।

विनय भारद्वाज, मीडिया समन्वयक, ग्रीन गैस लिमिटेड 

Edited By: Tanu Gupta