आगरा, जागरण संवाददाता। बैंक से संबंधित कामकाज लंबित है तो उसे जल्द निपटा लीजिए, क्योंकि छुट्टी और बैंक कर्मचारियों की हड़ताल के चलते मार्च में बैंक छह दिनों तक बंद रह सकते हैं। हालांकि हड़ताल न हो इसको लेकर अभी प्रयास हो रहे हैं। इसी क्रम में 29 फरवरी को इंडियन बैंक एसोसिएशन की बैठक बैंक कर्मचारी संगठनों के साथ होगी।

पिछले दिनों बैंककर्मियों की दो दिनों की हड़ताल के बाद मार्च में भी तीन दिनों की हड़ताल प्रस्तावित है। बैंक इम्प्लाय फेडरेशन ऑफ इंडिया और ऑल इंडिया बैंक इम्पलाय एसोसिएशन (एआइबीईए) ने 11 से 13 मार्च तक हड़ताल पर जाने का नोटिस बैंकिंग प्रबंधनों को दिया है। इसके एक दिन पहले 10 मार्च को होली की छुट्टी रहेगी। 14 मार्च को दूसरा शनिवार और 15 मार्च को रविवार की छुट्टी रहेगी। इस तरह पूरे छह दिन बैंक बंद रहेंगे।

ये हैं मांगें

बैंक कर्मचारियों की मांग है कि सैलरी हर पांच साल में रिवाइज की जाए। 2012 में सैलरी रिवाइज की गई थी इस हिसाब से 2017 में रिवाइज होनी थी, जो नहीं हुई। कर्मचारी सप्ताह में दो दिन की छुट्टी की मांग कर रहे हैं।

अप्रैल से हो सकती है अनिश्चितकालीन हड़ताल

यूपी बैंक यूनियन के आगरा इकाई के संयुक्त मंत्री शैलेंद्र झा का कहना है कि हड़ताल का नोटिस दे दिया गया है। अगर कर्मचारी संघों की मांगें नहीं मानी गईं तो 11 से 13 मार्च को हड़ताल रहेगी, इसके बाद एक अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं।

नौकरीपेशा वर्ग के सामने आएगी दिक्‍कत

नौकरीपेशा वर्ग के सामने इस हड़ताल के चलते दिक्‍कत आ सकती है। सरकारी कर्मचारियों की तनख्‍वाह पहली तारीख को मिल जाती है लेकिन प्राइवेट सेक्‍टर में वेतन आने की तारीख सात है। यानि आठ को नकद निकासी हो सकती है। इसके बाद एक सप्‍ताह तक उसी नकदी से काम चलाना होगा। इधर एटीएम पर भी दबाव बढ़ने के आसार हैं। वहीं कुछ स्‍कूलों में नया सत्र मार्च से ही आरंभ हो जाएगा। ऐसे में बच्‍चों की फीस, कॉपी-किताबें, ड्रेस आदि के लिए भी अभिभावकों को कैश की आवश्‍यकता पड़ेगी। फीस तो ऑनलाइन भी जमा की जा सकती है लेकिन अन्‍य खर्चों के लिए तो कैश की जरूरत पड़ेगी ही।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस