आगरा, जागरण संवददाता : शाहगंज के ग्यासपुरा में ब्याज की किस्त नहीं देने पर जूता कारीगर और उसकी पत्‍‌नी को बंधक बनाकर मारपीट करने के मामले में पीड़ित के स्वजन ने साहूकार और उसके दो भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

ग्यासपुरा निवासी दीपक कुमार (32) पुत्र अचल सिंह जूता कारीगर हैं। दीपक ने एक साल पहले ग्यासपुरा निवासी साहूकार मुकेश सागर से 1.15 लाख रुपये दस फीसद की मासिक ब्याज पर लिए थे। इस रकम से उसने घर पर जूते का काम डाला था। लॉकडाउन में काम बंद होने से वह ब्याज नहीं दे सका। ब्याज चुकाने के लिए दीपक ने अपने मकान का सौदा कर दिया। पेशगी में मिले डेढ़ लाख रुपये लेकर हिसाब चुकता करने 23 सितंबर की शाम को वह पत्‍‌नी अनुराधा के साथ मुकेश सागर के घर गया था। दीपक की सास बेबी का आरोप है कि वहा मुकेश और उसके भाई सुनील व सुशील सागर ने दीपक और उसकी पत्नी अनुराधा को बंधक बना लिया था। मारपीट करके चेक और स्टाप पेपर पर हस्ताक्षर करा लिए थे। आरोपितों ने अक्टूबर में तीन लाख रुपये ब्याज समेत न चुकाने पर पत्नी और बेटी के अपहरण की धमकी दी थी। इससे दीपक दहशत में आ गया। दीपक ने घर में शनिवार की रात पत्नी अनुराधा और दोनों बेटियों के साथ कोल्ड ड्रिंक में विषाक्त पदार्थ मिलाने के बाद पीकर खुदकुशी का प्रयास किया। दीपक ने खुदकुशी के प्रयास से पहले अपना वीडियो बनाकर रिश्तेदारों के मोबाइल पर भी भेज दिया था। रविवार को एसएन मेडिकल कालेज की इमरजेंसी में दंपती और दोनों बेटियों को भर्ती कराया गया। उनकी हालत अब खतरे से बाहर है।

दीपक की सास बेबी ने शाहगंज थाने में साहूकार मुकेश सागर व उसके भाई सुनील सागर और सुशील सागर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। सीओ लोहामंडी रितेश कुमार ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस