आगरा, जागरण संवाददाता। कांग्रेस नेता शशि थरूर गुरुवार शाम अपनी मां सुलेखा मेनन का 87वां जन्मदिन मनाने के लिए ताजनगरी पहुंचे। उन्होंने अपनी मां और छोटी बहनों शोभा व स्मिता के साथ ताजमहल निहारा। थरूर की मां का जन्मदिन शुक्रवार को है। शुक्रवार को ताजमहल बंद रहता है, जिसके चलते उन्होंने गुरुवार शाम को ही स्मारक निहारा।

शशि थरूर अपने स्वजनों के साथ करीब दोपहर 4:30 बजे ताजमहल पहुंचे। स्मारक में वह करीब डेढ़ घंटे तक रुके। उन्होंने स्मारक के इतिहास, वास्तुकला, पच्चीकारी आदि के बारे में गाइड से विस्तृत जानकारी की। 

‘1996 में देखा था ताजमहल, काफी बदलाव हुआ’

थरूर ने गाइड को बताया कि वह प्राइवेट विजिट पर आगरा आए हैं। शुक्रवार को उनकी मां का 87वां जन्मदिन है। इस अवसर को खास बनाने के लिए वह अपनी मां और बहनों के साथ ताजमहल देखने आए हैं। 

थरूर ने बताया कि 26 वर्ष पूर्व वर्ष 1996 में उन्होंने ताजमहल देखा था। तब से अब तक काफी बदलाव हुआ है। यह काफी साफ नजर आ रहा है। स्मारक में साफ-सफाई भी अच्छी है। सुरक्षा पहले से बेहतर हुई है। स्मारक के बाहर रोड और एप्रोच अच्छी है। 

थरूर की मां ने करीब चार दशक और बहनों ने दो दशक पूर्व ताजमहल देखा था। गाइड हेमंत गुप्ता ने थरूर और उनके स्वजनों को ताजमहल का भ्रमण कराया। बता दें कि थरूर ने हाल ही में कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था, लेकिन मल्लिकार्जुन खड़गे ने उन्हें परास्त कर दिया था।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट