आगरा, जागरण संवाददाता। शासनादेश आने के बाद स्‍कूलों ने फीस में राहत नहीं दी है। अब भी अलग अलग मदों में शुल्‍क लिया जा रहा है। अभिभावक दबाव में हैं क्योंकि फीस जमा न होने पर विद्यार्थियों को आनलाइन शिक्षण ग्रुप से निकालकर परीक्षा में शामिल होने से रोका जा रहा है। शिकायत न शिक्षाधिकारी सुनते हैं, न ही जिला प्रशासन। अब मंडलायुक्त से गुहार लगाई है, यहां भी सुनवाई न हुई, तो तीन दिन बाद मंडलायुक्त कार्यालय गेट पर ताला लगा देंगे। यह चेतावनी गुरुवार को प्रोग्रेसिव आगरा पेरेंट्स एसोसिएशन (पापा) के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन में अभिभावकों ने दी।

मंडलायुक्त कार्यालय पहुंचे अभिभावकों का कहना था कि वह पिछले एक वर्ष से राहत की मांग कर रहे हैं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक व जिलाधिकारी के बाद अब मंडलायुक्त के पास राहत की उम्मीद लेकर आए हैं। अभिभावकों ने मंडलायुक्त को शिकायती पत्र सौंपकर शिकायत दर्ज कराई, जिसमें स्कूलों की मनमानी, विद्यार्थियों को आनलाइन शिक्षण ग्रुप से हटाने और फीस जमा करने का दबाव बनाने आदि की शिकायत की गई। पापा के राष्ट्रीय संयोजक दीपक सरीन का कहना है कि जिला प्रशासन प्रदेश शासन के आदेशों का पालन कराने में नाकाम रहा, अभिभावकों का धैर्य जवाब दे रहा है, यदि तीन दिन में शिकायतों का निस्तारण नहीं हुआ, विद्यार्थियों को आनलाइन ग्रुप में जोड़कर परीक्षाएं नहीं ली गईं, शासनादेश अनुसार फीस में छूट नहीं दी गई, तो टीम पापा संस्था मंडलायुक्त कार्यालय के मुख्य द्वार पर ताला लगा देगी, अभिभावकों की सुनवाई न होने तक और कोई कार्य भी नहीं करने दिया जाएगा। इस दौरान मनोज गोयल, सुमित सक्सेना, राखी सिंह, एमएस पवार, कपिल उप्पल, गर्जन सिंह, हीरेन अग्रवाल, राजेश निगम, मयंक मल्होत्रा, सुभाष चंद्रा, दीपक शर्मा आदि मौजूद रहे।