आगरा, जागरण संवाददाता। सदर क्षेत्र में साईं नाथ एक्सप्रेस कूरियर कंपनी के कर्मियों से दो सौ किलोग्राम चांदी लूटने वाले गैंग के बदमाश बेहद शातिर हैं। उन्होंने पुलिस को भ्रमित करने के लिए बारीकी से तैयारी की थी। पुलिस को अभी तक जो सुराग मिले हैं, उनके आधार पर माना जा रहा है कि बदमाश दिल्ली और हरियाणा के हैं। उन्होंने घटना में तीन गाड़ियों का प्रयोग किया था। इनमें से एक गाड़ी पुलिस बरामद कर चुकी है। दो गाड़ियों के नंबर के आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है।

धौलपुर में बसेड़ी के रेविया गांव निवासी शंकर परमार की साईं नाथ एक्सप्रेस कूरियर कंपनी के कर्मचारी आकाश और राघवेंद्र बुधवार दोपहर स्विफ्ट डिजायर कार से दो सौ किलोग्राम चांदी लेकर गोदाम से बाजार के लिए जा रहे थे। तभी सदर क्षेत्र के रोहता में होंडा अमेज कार सवार बदमाशों ने चांदी लूट ली और भाग गए। बदमाशों की होंडा अमेज कार पुलिस ने कुछ देर बाद ही ताजगंज क्षेत्र के गांव से बरामद कर ली थी। पुलिस ने बदमाशों का सुराग तलाशने को आसपास के क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग चेक की। सैंया, इनर रिग रोड, लखनऊ एक्सप्रेस वे और यमुना एक्सप्रेस वे के टोल प्लाजा पर लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग भी चेक की। इसके आधार पर पुलिस को जानकारी हुई है कि बदमाश पहले 14 जनवरी को रेकी करने के लिए एक कार से आए थे। इसके बाद वे होंडा अमेज कार लेकर आ गए। इसी कार से बदमाशों ने वारदात की। घटनास्थल से करीब दस किलोमीटर की दूरी पर इसे छोड़कर बदमाश स्विफ्ट डिजायर कार से भागे हैं। होंडा अमेज कार गुरुग्राम से चोरी की गई थी। पुलिस को अब रेकी के लिए इस्तेमाल की गई कार और भागने के लिए प्रयोग की गई कार का नंबर मिल गया है। इनके आधार पर ही बदमाशों के बारे में जानकारी की जा रही है। पुलिस मान रही है कि बदमाश इनर रिग रोड से यमुना एक्सप्रेस वे होकर नोएडा की ओर गए हैं। गैंग दिल्ली और हरियाणा का है। इनमें से दो बदमाशों के पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी मिले हैं। मगर, वे अस्पष्ट हैं। इसलिए पहचान नहीं हो पा रही है। पुलिस टीमें अब दिल्ली और हरियाणा में बदमाशों की तलाश में घूम रही हैं।

Edited By: Jagran