आगरा, जागरण संवाददाता। जगदीशपुरा की आवास विकास कालोनी के सेक्टर दो में डाक्टर दंपती के यहां शनिवार की रात हथियारबंद बदमाशों ने डकैती डाली थी। बदमाश करीब 20 मिनट तक वहां रहे थे। इस दौरान एक बदमाश महिला डाक्टर के सिर पर तमंचा तानकर गोली मारने की धमकी दे रहा था। वहीं, उसका साथी दूसरा बदमाश डाक्टर से सहानुभूति जता रहा था। उनसे कह रहा था कि परेशान न हों, हम उन्हें नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। धमकी और सहानुभूति बदमाशों की साजिश का हिस्सा तो नहीं थी, डाक्टर दंपती और पुलिस दोनों इस गुत्थी को भी सुलझाने का प्रयास कर रहे थे।

डाक्टर दंपती के मकान का लोहे का मुख्य गेट अंदर से बंद था। जबकि अंदर के दरवाजे खुले थे। बदमाश गेट से कूदकर अंदर आए थे। उन्होंने घर में घुसते ही डाक्टर दंपती और उनकी सगी संबंधी जो कि नगर निगम फीरोजाबाद में टैक्स सुपरिटेंडेंट हैं, उन्हें अपने कब्जे में कर लिया था। डाक्टर जसवंत राय के सिर में तमंचे की बट से तीन प्रहार करके लहूलुहान कर दिया था। जिससे पूरा परिवार दहशत में आ गया था। बदमाशों के विरोध का साहस नहीं जुटा सका था।

बदमाश जो भी बोलते गए, डाक्टर सुनीता सागर वह बिना विरोध किए करती गईं। इस दौरान एक बदमाश बार-बार गोली मारने की धमकी दे रहा था। वह कभी सीमा सागर ताे कभी सुनीता सागर के सिर पर तमंचा रख ट्रिगर दबाने की कोशिश करता दिखा। इस दौरान एक बदमाश डाक्टर सुनीता और सीमा से सहानुभूति जताता। दोनों से कहने लगता कि वह लोग परेशान न हों, उन्हें कुछ नहीं होगा।

करीब पांच मिनट बाद बदमाशों ने सीमा सागर के भी हाथ-पैर बांधने के बाद मुंह पर टेप लगा दिया। उन्हें उस कमरे में बंद कर दिया, जिसमें डाक्टर जसंवत राय को बंद किया था। बदमाश ने इसके बाद डाक्टर सुनीता सागर के माथे पर तमंचा रखकर गोली चलाने की धमकी दी। जिस पर दूसरे बदमाश ने उनसे सहानुभूति जताते हुए कहाकि वह उन्हें कुछ नहीं होगा। बस जल्दी से वह तिजोरी खोलकर उसमें रखी सारी नकदी व जेवरात उन्हें सौंप दें।पति काे खून से लथपथ देख दहशत में आई डाक्टर सुनीता सागर ने बदमाशों के हिसाब से सब कुछ करती चली गईं। तिजोरी खोलकर उनमें रखे आठ लाख रुपये वह जेवरात बदमाशों को सौंप दिए थे।

Edited By: Prateek Gupta