आगरा, जागरण संवाददाता। डाक्टर दंपती के घर के बराबर में दारोगा जबकि सामने वाली लाइन में दो इंस्पेक्टर के मकान हैं। इसके बावजूद बदमाशों ने दुस्साहसिक वारदात को अंजाम दे दिया। अंधेरा होते ही डाक्टर दंपती के घर पड़ी डकैती के बाद कालोनी वालों की पूरी रात दहशत में कटी। यहां अधिकांश सेवानिवृत्त अधिकारी रहते हैं। उन्हें अपनी और परिवार की सुरक्षा की चिंता सताने लगी है। अधिकारियों से कालोनी में पुलिस गश्त बढ़ाने की मांग की है।

गेट बंद कालोनी में आमने-सामने कुल 27 मकान हैं। जिनमें डाक्टर दंपती के अलावा सेवानिवृत्त डिप्टी सीएमओ, आइसी के सेवानिवृत्त अधिकारी, बैंक के सेवानिवृत्त अधिकारी व खाद्य विभाग के इंस्पेक्टर रहते हैं। कालोनी के दोनों ओर गेट लगा हुआ है। मगर, डाक्टर दंपती के सामने वाले मकान में कुछ दिन पहले ही काम शुरू हुआ है। दूसरे मकान की दीवार गिरने से वहां से आने-जाने का रास्ता बना हुआ है।

डाक्टर जसवंत राय के घर डकैती के बाद से कालोनी में रहने वाले सेवानिवृत्त अधिकारी और उनके स्वजन को अपनी सुरक्षा की चिंता सताने लगी है। कालोनी वालों रविवार सुबह ही बैठक करके सामने की टूटी दीवार को बनाने का फैसला किया।गेट पर सीसीटीवी कैमरा लगा गार्ड तैनात करने की निर्णय किया। इसके साथ ही अधिकारियों से पुलिस की गश्त बढ़ाने की मांग की है।

डकैती के बाद बोदला की ओर भागे थे बदमाश

डाक्टर के यहां डकैती डालने के बाद बदमाश सामने पड़े प्लाट की टूटी दीवार से होकर बोदला की ओर भागे थे। शोर मचने पर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे थे। तब तक बदमाश वहां से भाग चुके थे। कालोनी से भागने के तीन रास्ते हैं। दोनों गेट के अलावा सामने के प्लाट की टूटी हुई दीवार भी इनमें से एक है। एक गेट से निकलने के बाद सड़क सेंट्रल पार्क की ओर जाती है। दूसरे गेट से निकलने पर एक सड़क बोदला व दूसरी सेक्टर तीन की ओर जाती है। बताया जाता है कि बदमाश सामने के रास्ते से होकर बोदला की ओर भागे थे।आगे जाकर वह बोदला की ओर जाने वाली गलियों में गुम हो गए।

पड़ोस के घर में चोरी के बाद लगा था सीसीटीवी कैमरा

डाक्टर जसवंत के पड़ोस के घर में डेढ़ साल पहले चोरी हो गई थी। महिला रश्मि ने उक्त घटना के बाद अपने यहां सीसीटीवी कैमरे लगाए थे। महिला इन दिनों में दिल्ली में है। पुलिस को अब उसके लौटने का इंतजार है, जिससे कि कैमरों की फुटेज चेक करके उससे सुराग हासिल किया जा सके।

बोले कालोनी के लोग

कालोनी में रहने वाले ज्यादातर लोग सेवानिवृत्त हैं। घटना से दहशत में आए परिवार के लोग रात भर जागते रहे। कालोनी की सुरक्षा के लिए गार्ड तैनात किया जाएगा।

प्रेमदास

कालोनी में इस तरह की यह पहली घटना है, यहां रहने वाले परिवारों की सुरक्षा को लेकर बैठक की जाएगी। पुलिस अधिकारियों से कालोनी में गश्त बढ़ाने की मांग की है।

वीरेंद्र सिंह

डकैती की घटना के बाद पूरी कालोनी नहीं सोई। वह रात भर जागती रही। सुरक्षा के लिए कालोनी के दोनों ओर गेट लगाए गए हैं। सामने की टूटी हुई दीवार को भी शीघ्र बनवाया जाएगा।

सरोज सिंह

Edited By: Prateek Gupta